हरियाणा: पुलिस की सतर्कता से ऑनर किलिंग का शिकार होने से बचा नवविवाहित जोड़ा, लड़की के पिता सहित 4 गिरफ्तार

राजस्थान में बाल विवाह की रोकथाम के लिए गहलोत सरकार ने सरपंच से लेकर मास्टरजी की जवाबदेही तय कर दी है.

राजस्थान में बाल विवाह की रोकथाम के लिए गहलोत सरकार ने सरपंच से लेकर मास्टरजी की जवाबदेही तय कर दी है.

पूछताछ में आरोपियो ने बताया कि बेटी (Daughter) ने उनकी मर्जी के खिलाफ शादी (Marriage) की थी जिससे उन्हें गहरा आघात लगा.

  • Share this:
हिसार. पुलिस की सतर्कता से लव मैरिज (Love Marriage) करने वाले एक जोड़े की जान बच सकीं. मामले में 12 क्वार्टर रोड निवासी सुनील कुमार ने एचटीएम थाना पुलिस (Police) को शिकायत देकर नवविवाहित जोड़े को अगवा करने का आरोप लगाया था. पुलिस ने नवविवाहित जोड़े काे आरोपितों के चंगुल से छुड़ाकर सही सलामत सेफ हाउस भिजवा दिया है.

दरअसल 12 क्वाटर रोड निवासी पंकज और मिल गेट निवासी युवती ने सोमवार को कोर्ट में शादी के कागजात तैयार करवा कर आर्यसमाज के नजदीक एक मंदिर में शादी की थी. इसके बाद शाम करीब 6 बजे जहाज पुल पर बालाजी गिफ्ट गैलरी के नजदीक लड़की के परिजनो ने पंकज को एक गाड़ी व लड़की को मोटर साइकिल पर बैठा जान से मारने की नीयत से अगवा कर लिया था.

सूचना मिलने पर उप पुलिस अधीक्षक जोगिंद्र शर्मा, उप पुलिस अधीक्षक अभिमन्यु लोहान, उप पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार, थाना प्रबंधक निरीक्षक सुखजीत व पुलिस चौकी मुल्तानी चौक प्रभारी सहायक उप निरीक्षक विरेंद्र के साथ मौके पर पहुंचकर मामले की जानकारी जुटाई. एसपी के आदेशों पर पुलिस टीमों का गठन कर शादीशुदा जोड़े की तलाश शुरू की गई. जिसके बाद लड़की को सेक्टर 1/4 से और पंकज को एयरपोर्ट चौक से आरोपितों के चंगुल से छुड़वा लिया गया.

मामले में पुलिस ने लड़की के पिता सुनील कुमार, नवीन, शिव कुमार और रवि को 12 क्वार्टर निवासी सुनील कुमार की शिकायत पर थाना एचटीएम थाना में धारा 364/323/147/148 के तहत दर्ज मामले में गिरफ्तार कर लिया. पुलिस टीम द्वारा पूछताछ करने पर आरोपियो ने बताया कि बेटी ने उनकी मर्जी के खिलाफ शादी की थी जिससे उन्हें गहरा आघात लगा. पुलिस ने आरोपियो  से वारदात में प्रयोग मोटरसाइकिल बरामद की है. आरोपितों को बुधवार को अदालत में पेश किया जाएगा. अन्य आरोपियो  की तलाश की जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज