Lockdown की वजह से हिसार में फंसी थाईलैंड की महिला से बलात्कार, मुख्य आरोपी गिरफ्तार
Hisar News in Hindi

Lockdown की वजह से हिसार में फंसी थाईलैंड की महिला से बलात्कार, मुख्य आरोपी गिरफ्तार
हिसार में होटल के मैनेजर ने थाई महिला से बलात्कार किया. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

गुरुवार और शुक्रवार की दरमियानी रात जब वह अपनी दोस्त के साथ बाहर घूमकर लौटीं तो उनकी दोस्त कमरे में चली गई, जबकि वह कुछ देर होटल में नीचे रुक गईं. इसी बीच वहां होटल के मैनेजर गुलशन ने उनके साथ रेप किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 8, 2020, 8:21 PM IST
  • Share this:
हिसार. हिसार (Hisar) में एक विदेशी महिला के साथ रेप (Rape) का मामला सामने आया है. रेप की शिकार 41 वर्षीय यह महिला थाईलैंड (Thailand) की रहने वाली हैं और पिछले कुछ दिनों से हिसार में रह रही थीं. 6 अगस्त गुरुवार को वह अपनी एक अन्य दोस्त के साथ रेड स्क्वेयर मार्केट स्थित होटल रिजेंसी में रुकी थीं. इसी होटल में उनके साथ बलात्कार की वारदात हुई. इस मामले का मुख्य आरोपी गिरफ्तार (Accused arrested) कर लिया गया है.

गुरुवार-शुक्रवार की दरमियानी रात हुई वारदात

गुरुवार और शुक्रवार की दरमियानी रात जब वह अपनी दोस्त के साथ बाहर घूमकर लौटीं तो उनकी दोस्त कमरे में चली गई, जबकि वह कुछ देर होटल में नीचे रुक गईं. इसी बीच वहां होटल के मैनेजर गुलशन ने उनके साथ रेप किया. वहीं एक अन्य ने भी उसके साथ रेप का प्रयास किया. इस वारदात के बाद महिला ने होटल के बाहर आकर शोर मचाया तो कुछ लोग इकठ्ठा हो गए और पुलिस को सूचना दी गई.



मुख्य आरोपी 14 दिन की न्यायिक हिरासत में
पुलिस मौके पर पहुंची तो पीड़ित विदेशी महिला को अपने साथ अस्पताल ले गई. पुलिस ने पीड़िता का मेडिकल कराकर रेप के इल्जाम में दो आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है. बाद में पुलिस ने मुख्य आरोपी गुलशन को गिरफ्तार कर लिया. शनिवार को मुख्य आरोपी को अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया. मामले के दूसरे आरोपी को अब तक गिरफ्तार नहीं किया जा सका है.

भाषाई दिक्कत के कारण नहीं हो सका बयान दर्ज

जानकारी के अनुसार ये दोनों महिलाएं जून से हिसार आई थीं और होटल बदल-बदलकर हिसार में रह रही थीं. थाईलैंड की रहनेवाली दोनों महिलाएं मार्च में टूरिस्ट वीजा पर भारत आई थीं और लॉकडाउन के कारण भारत में ही फंस गईं. इंटरनेशनल फ्लाइट्स नहीं चलने के कारण वे अब तक थाइलैंड नहीं लौट सकी हैं. शनिवार को भाषा की दिक्कत होने के कारण पीड़िता का बयान मजिस्ट्रेट के सामने धारा 164 के तहत दर्ज नहीं हो पाया है. पुलिस को अब तक कोई थाई भाषा समझने वाला ट्रांसलेटर नहीं मिल पाया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज