हिसार: खेत में पानी लगाने को लेकर हुआ विवाद, चाचा ने भतीजे की कुल्डाड़ी मारकर की हत्या

चाचा ने भतीजे को मार डाला. , (सांकेतिक फोटो)

चाचा ने भतीजे को मार डाला. , (सांकेतिक फोटो)

Murder in Hisar: भतीजे सुरेश और चाचा सतबीर का खेतों में नहरी पानी लगाने को लेकर करीब चार दिन पूर्व विवाद हुआ था.

  • Share this:
हिसार. गांव रावलवास कलां में खेतों में पानी लगाने की बारी को लेकर लगातार हो रहे झगड़ों की रंजिश में चाचा ने बेटों संग मिलकर 39 वर्षीय भतीजे की जेली, कुल्हाड़ी से चोटें मारकर हत्या (Murder) कर दी. इस दौरान बीच-बचाव करने आए मृतक का भाई और मां भी घायल (Injured) हो गए. ग्रामीणों के एकत्रित होने पर हमलावर मौके से फरार हो गए. सूचना मिलने पर सदर थाना पुलिस मौके पर पहुंची और घटनास्थल का निरीक्षण किया.

पुलिस ने सिविल अस्पताल में मृतक का पोस्टमार्टम करवा शव स्वजनों को सौंप दिया. पुलिस ने मामले में पांच लोगों पर हत्या का केस दर्ज किया है. मृतक 30 वर्षीय सुरेश कुमार दर्जी व उसके चाचा सतबीर का खेतों में नहरी पानी लगाने को लेकर करीब चार दिन पूर्व विवाद हुआ था. उस दौरान करीब 27 मिनट तक पानी लगाने को लेकर विवाद हुआ था. इसी विवाद के चलते सुरेश की हत्या कर दी गई. हमले के बाद आरोपित मौके से फरार हो गए. स्वजनों ने बताया कि वारदात का आरोपित सतबीर अस्पताल में दाखिल है. सत्येंद्र को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है और सरजीत फरार है.

पानी लगाने की बारी को लेकर रहता था झगड़ा

गांव रावलवास कलां निवासी रमेश ने सदर थाना पुलिस को दी शिकायत में बताया कि वह शहर के ठाकुरदास भार्गव सीनियर सेकेंडरी स्कूल में बतौर टीजीटी साइंस अध्यापक के पद पर कार्यरत है. उसका बड़ा भाई 39 वर्षीय सुरेश कुमार प्राइवेट काम करता था. वे दोनों गांव में बच्चों सहित अलग-अलग रहते हैं. रमेश ने बताया कि दाेनों भाइयों के पास सवा एकड़ जमीन है. उनकी पुश्तैनी जमीन है जिसमें वह और उसके चाचा सतबीर का परिवार खेती करता है. रमेश ने बताया कि उन्होंने चाचा का परिवार और वे आपसी सहमति से खेतों में नहरी पानी लगाते है. उनसे पहले उसके चाचा सतबीर की पानी की बारी थी.
कुल्हाड़ी से काटने की दी धमकी

सोमवार को उनकी पानी की बारी दिन में एक बजे थी और चाचा सतबीर ने खेत से मिट्टी उठाई हुई थी. रमेश ने बताया कि उनका खेत उंचा है. जिसके कारण खेत में नाका बंद ना करने के कारण उसके खेत में पानी नहीं आया. इस कारण 26 अप्रैल को सुबह 7.30 बजे उसकी मां की खेतों में चाचा सतबीर के साथ कहासुनी हो गई थी. बुधवार सुबह 7.30 बजे वह और उसकी मां घर पर थे. उस दौरान चाचा सतबीर उसके घर के सामने आया और उसे कुल्हाड़ी से काटने की धमकी दी. रमेश ने आरोप लगाया कि उस दौरान चाचा सतबीर ने उसके साथ हाथापाई की और वहां से चला गया.

कुल्हाडी से किया वार, मौत



कुछ ही देर में चाचा सतबीर ने अपने बेटे सरजीत, सत्येंद्र, सतबीर और सरजीत की पत्नी वहां आए. सतबीर, सरजीत और सत्येंद्र के हाथों में जेली, कुल्हाड़ी और लोहे की फूंकनी थी. वे तीनों नजदीक स्थित उसके भाई सुरेश के पास गए और सुरेश पर हमला कर दिया. रमेश ने बताया कि उसने मौके पर पहुंचकर बीच-बचाव करने की कोशिश की तो सरजीत ने उसके उपर कुल्हाड़ी से वार किया और धक्का देकर ईंटों के उपर गिरा दिया. रमेश ने बताया कि उसके देखते-देखते तीनों आरोपितों ने उसके भाई की हत्या कर दी. रमेश ने आरोप लगाया कि सरजीत और सतबीर की पत्नी ने बीच में आकर उसकी मां को पकड़ लिया. अगर वे ऐसा ना करती तो यह घटना नहीं घटती. इस दौरान आसपड़ोस के लोगों ने बीच-बचाव किया. सुरेश को गंभीर रूप से घायल होने के कारण सिविल अस्पताल भिजवाया, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. पुलिस ने शिकायत पर सतबीर उसके दोनों बेटे और सतबीर की पत्नी और सरजीत की पत्नी पर धारा 302 सहित अन्य धाराओं में केस दर्ज कर लिया है.

18 सितंबर को हुई थी जगदीश की हत्या

रावलवास कलां गांव में 8 महीने में यह तीसरी हत्या है. इससे पहले 18 सितंबर की रात साढ़े 11 बजे रावलवास कलां निवासी जगदीश व उसके परिवार पर गांव के ही संदीप, सोनू व नरेंद्र ने रंजिशन घर में घुसकर हथियारों से हमला कर दिया था. उस दौरान जगदीश की मौत हो गई थी.

16 अक्टूबर को की गई थी जगमेंद्र की हत्या

गांव रावलवास कलां में 17 अक्तूबर को गांव निवासी जगमेंद्र का शव गांव में जोहड़ के पास मिला था. 16 अक्टूबर की रात गांव निवासी सतबीर, बिजेंद्र व सोमबीर ने जगमेंद्र पर चाकू व डंडों से हमला कर उसकी हत्या की थी. तीनों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। पूछताछ में आरोपी सतबीर ने बताया था कि जगमेंद्र उसकी पत्नी पर बुरी नजर रखता था. कई बार जगमेंद्र को उसने समझाया भी, लेकिन वह नहीं माना था. मामले में हत्या का केस दर्ज कर लिया है. मृतक के शव का पोस्टमार्टम करवाकर शव स्वजनों को सौंप दिया है. आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए कार्रवाई की जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज