हरियाणा में मौसम: 3 सितंबर तक गरज-चमक और हवाओं के साथ बारिश की संभावना
Hisar News in Hindi

हरियाणा में मौसम: 3 सितंबर तक गरज-चमक और हवाओं के साथ बारिश की संभावना
हरियाणा में 5 सितंबर तक मौसम रहेगा परिवर्तनशील

Weather Update: हरियाणा (Haryana) के कई जिलों में 1 सितंबर से 3 सितंबर के बीच गरज-चमक और हवाओं के साथ बारिश (Rain) होने की संभावना जताई गई है.

  • Share this:
हरियाणा. प्रदेश में मौसम (Weather) परिवर्तनशील बना हुआ है. उमस भरी गर्मी से लोगों को अब राहत मिली है. सोमवार को हिसार में आसमान में काले बादल छाए रहे और ठंडी हवा के झाेंको ने मौसम बदल दिया. धूप और छांव का खेल पूरा दिन चलता रहा. रात के तापमान (Temperature) में गिरावट दर्ज की गई है. आने वाले समय में मौसम में और बदलाव होगा और न्यूनतम तापमान और नीचे जाएगा.

हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के मौसम विभाग के विभागाध्यक्ष मदन खीचड़ ने बताया कि हरियाणा में 5 सितंबर तक मौसम आमतौर पर परिवर्तनशील रहने की उम्मीद है. मगर 1 सितंबर से 3 सितंबर के बीच कहीं-कहीं गरज चमक व हवाओं के साथ बारिश हो सकती है.

अब तक दो फीसद कम बारिश
हरियाणा राज्य में मानसून के दौरान (1जून से 29 अगस्त) तक भारत मौसम विज्ञान विभाग में दर्ज आंकड़ों के अनुसार राज्य में अब तक सामान्य से 2 फीसद कम बारिश दर्ज हुई है. इस दौरान राज्य में सामान्य बारिश 358.9 मिलीमीटर की जगह 350.7 मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई है. राज्य के 11 जिलों में सामान्य से कम बारिश दर्ज हुई, जिनमें मुख्य पंचकूला (-61 फीसद), रोहतक (-51फीसद), भिवानी (-40 फीसद) महेंद्रगढ़ (-36 फीसद), रेवाडी (-26 फीसद), अम्बाला (-21फीसद), हिसार (-13 फीसद), जींद (-10 फीसद), पानीपत (-8 फीसद), पलवल(-5 फीसद), यमुनानगर (-2फीसद) और राज्य के बाकी जिलों में सामान्य या अधिक वर्षा आंकी गई है.
सब्जियां हुईं महंगी


अगस्त महीने में हो रही बारिश से सब्जियों के भावों में भी जबरदस्त उछाल आया है. पिछले एक पखवाड़े से भावों में दो से तीन गुना की बढ़ोतरी होने के कारण सब्जियां आमजन के बजट से बाहर होती जा रही हैं. काफी सब्जियों के भाव तो तीन गुना से अधिक तक बढ़ गए है. अगस्त माह में बारिश के चलते सब्जियों की आवक कम हो गई है और स्थानीय किसानों की सब्जियां बहुत कम मात्रा में ही मंडी में पहुंच रही हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज