जींद से विधानसभा चुनाव का बिगुल फूंकेंगे अमित शाह

अमित शाह की पहली रैली को देखते हुए जींद में सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए हैं. जींद में 1500 से ज्यादा पुलिस के जवान रैली की सुरक्षा की कमान संभालेंगे.

News18 Haryana
Updated: August 16, 2019, 9:56 AM IST
जींद से विधानसभा चुनाव का बिगुल फूंकेंगे अमित शाह
जींद से विधानसभा चुनाव का बिगुल फूंकेंगे अमित शाह
News18 Haryana
Updated: August 16, 2019, 9:56 AM IST
जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटने के बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह हरियाणा के जींद जिले में पहली रैली करने जा रहे हैं. गृह मंत्री अमित शा‍ह जींद की जाट बांगर बेल्‍ट से शुक्रवार को बीरेंद्र सिंह द्वारा आयोजित रैली से हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए बिगुल बजाएंगे. बता दें कि शाह राज्यसभा सदस्य व पूर्व केंद्रीय मंत्री चौ. बीरेंद्र सिंह के बुलावे पर हरियाणा आ रहे हैं.

भाजपा की आस्था रैली के जरिये अमित शाह लगे हाथ हरियाणा में चुनावी बिगुल बजाकर जाएंगे. रैली में मुख्यमंत्री मनोहर लाल अपनी पांच साल की सरकार का रिपोर्ट कार्ड पेश करेंगे. जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद चल रही प्रतिक्रियाओं के बीच अमित शाह जींद की धरती से कोई बड़ा राजनीतिक संदेश भी दे सकते हैं, जिस पर पूरे देश और पड़ोसी मुल्कों की निगाह भी रहेगी.

जाट लैंड में जीत की रणनीति

जींद में अमित शाह की रैली के कई मायने हैं. लेकिन इसके पीछे की सबसे बड़ी वजह है जाट लैंड में जीत की रणनीति तैयार करना. पिछले पांच सालों में बीजेपी ने गैर जाट समुदाय पर मजबूत पकड़ बनाई है. ऐसे में अगर जाट समुदाय को रिझाने में बीजेपी कामयाब हो गई तो बीजेपी का 75 पार का सपना का मुश्किल नहीं होगा.

जींद में बीजेपी की कमजोर पकड़

साल 2014 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी को बेशक हरियाणा की सत्ता मिल गई थी, लेकिन जींद जिले में उसका बेहद खराब रहा था. मोदी लहर और चौधरी बीरेंद्र सिंह के बीजेपी में शामिल होने के बावजूद बीजेपी से यहां से सिर्फ बीरेंद्र सिंह की पत्नी प्रेमलता ही जीत हासिल कर सकीं थी. ऐसे में जींद में अमित शाह की रैली का मकसद यहां की ज्यादा से ज्यादा सीटें जीतने का है.

पीएम मोदी को रोहतक बुला चुके हैं बीरेंद्र सिंह
Loading...

इससे पहले बीरेंद्र सिंह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को रोहतक बुलाकर अपने नाना दीनबंधु सर छोटू राम की आदमकद प्रतिमा का अनावरण करा चुके हैं. जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान जब सरकार में अस्थिरता का दौर चल रहा था, तब बीरेंद्र सिंह ने आंदोलनकारियों के साथ बातचीत कर मामले को निपटाने में अहम भूमिका निभाई थी.

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

अमित शाह की पहली रैली को देखते हुए जींद में सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए हैं. जींद में 1500 से ज्यादा पुलिस के जवान रैली की सुरक्षा की कमान संभालेंगे. तीन SP रैंक के अधिकारी और 30 DSP रैंक के अधिकारी भी सुरक्षा की कमान संभालेंगे. वहीं डॉग स्क्वॉयड की टीम भी रैली स्थल पर पहुंच गए हैं. जींद 20 से ज्यादा जगहों पर सुरक्षा के मद्देनजर नाके लगाए गए हैं.

ये भी पढ़ें- जेल में बंद भाईयों को राखी बांधते समय भावुक हुई बहनें, हमेशा अच्छे काम करने का लिया वचन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जींद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 16, 2019, 9:38 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...