PM मोदी की अपील रंग लाई, कोरोना से जंग के लिए इस गांव ने दिए एक करोड़ रुपए

हरियाणा के इस गांव ने रचा नया इतिहास, कोरोना से लड़ने को दिए 1 करोड़ रुपये
हरियाणा के इस गांव ने रचा नया इतिहास, कोरोना से लड़ने को दिए 1 करोड़ रुपये

हरियाणा के फरीदाबाद जिले की मच्छगर ग्राम पंचायत ने कोरोना से लड़ाई के लिए 1 करोड़ रुपए का दान दिया है. जानिए, इस पंचायत के पास अपना कितना फंड है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 25, 2020, 10:13 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. हरियाणा के एक गांव ने कोरोना (coronavirus) संकट काल में सरकार को दान देने में एक नया रिकॉर्ड कायम किया है. एक-दो लाख नहीं पूरे एक करोड़ रुपए दिए हैं. मैं बात कर रहा हूं फरीदाबाद जिले की मच्छगर ग्राम (Machhgar Village) पंचायत की. पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की अपील के बाद पंचायत ने इतना बड़ा दान देने का फैसला लिया. शनिवार को गांव के सरपंच नरेश कुमार ने पृथला विधानसभा क्षेत्र के विधायक एवं हरियाणा भंडारण निगम के चेयरमैन नयनपाल रावत को मुख्यमंत्री रिलीफ फंड के लिए एक करोड़ की रुपए की राशि का चेक भेंट किया.

विधायक ने बताया कि जिला उपायुक्त के माध्यम से मुख्यमंत्री रिलीफ फंड (Haryana Corona Relief Fund) को यह चेक पहुंचा दिया जाएगा. अन्य ग्राम पंचायतों को भी इससे प्रेरणा लेनी चाहिए. आज समूचा देश कोरोना महामारी से लड़ रहा है. ऐसे में मच्छगर गांव ने नया रिकॉर्ड बनाया है. रावत ने कहा कि पृथला विधानसभा क्षेत्र की जनता ने लॉकडाउन (lockdown) का पूरा पालन किया है. सोशल डिस्टेंसिंग (Social distancing) अपनाकर देश के प्रति अपना दायित्व निभा रहा है. यही कारण है कि इस क्षेत्र में एक भी कोरोना पॉजिटिव मामला नहीं आया.

fight with corona, india village, coronavirus, Machhgar Village faridabad, pm narendra modi, haryana Corona Relief Fund, fight with covid-19, Donation of one crore rupees, Villages of Haryana, covid-19, कोरोना के खिलाफ जंग, कोरोना वायरस, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी, मच्छगर गांव फरीदाबाद, एक करोड़ रुपये का दान, हरियाणा के गांव, कोविड-19, भारत के गांव
हरियाणा भंडारण निगम के चेयरमैन नयनपाल रावत को एक करोड़ रुपए का चेक सौंपते मच्छगर गांव के सरपंच




आपदा की इस घड़ी में देश व प्रदेश की सरकारों को सहयोग करने के लिए जिस प्रकार से समाजसेवी संस्थाएं, ग्राम पंचायतें, सामाजिक लोग आगे आ रहे हैं, वह सराहनीय कदम है और इस प्रकार मजबूती से कार्य करके ही हम कोरोना को मात दे सकते हैं. उन्होंने मच्छगर ग्राम पंचायत की प्रशंसा करते हुए कहा कि फरीदाबाद जिले की यह पहली ऐसी पंचायत है, जिसने इतनी बड़ी राशि मुख्यमंत्री राहत कोष में दी है, जिसने पूरे क्षेत्र का नाम हुआ है.
पंचायत ने अपने फंड से दिया है पैसा: रावत 

न्यूज18 से बातचीत में रावत ने कहा, 'यह पंचायत का अपना फंड है. इस पंचायत की काफी जमीन इंडिस्ट्रियल मॉडल टाउनशिप (IMT) के लिए एक्वायर हुई थी. इसलिए इसके पास 68 करोड़ रुपए का अपना फंड है. इसमें 1 करोड़ रुपए कोरोना से जंग के लिए दिया गया है. यह फरीदाबाद शहर से सटा हुआ गांव है.'

हरियाणा में किसान भी दे रहा है भरपूर योगदान

हरियाणा में किसानों ने भी कोरोना रिलीफ फंड में करीब सात लाख रुपए का दान दिया है. लगभग हर जिले के किसान इस फंड में पैसा देकर मिसाल कायम कर रहे हैं. ऐसा बहुत कम ही होता है कि कोई ग्राम पंचायत और किसान रिलीफ फंड में पैसा दे, लेकिन कोरोना काल में हर कोई मिलकर इस समस्या से लड़ रहा है.

ये भी पढ़ें:लॉकडाउन का समर्थन नहीं किया तो बेकाबू हो सकती है स्थिति, कोरोना की महामारी झेलने लायक नहीं है हेल्थ सिस्टम

Covid-19: गांवों में ऐसे रह रहे हैं दिल्ली-एनसीआर और मुंबई से गए श्रमिक
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज