Assembly Banner 2021

हरियाणा: घर से खेलने निकला था निकला था 11 साल का बच्चा, 9 दिन बाद नहर में मिला शव

नहर में मिला बच्चे का शव

नहर में मिला बच्चे का शव

Dead Body Found In Canal: 30 मार्च को डूबे 11 वर्षीय बच्चे का शव झज्जर जिले के गांव खरमान के पास नहर की मोरी में फंसा हुआ मिला. इस बच्चे की 9 दिन पहले गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी. आशंका है कि तैरना नहीं आने के कारण बच्चा नहर में डूब गया हो.

  • Share this:
झज्जर. 30 मार्च को सोनीपत (Sonipat) जिले के गांव मटिंडू से लापता हुए 11 वर्षीय मासूम का शव (Dead Body) झज्जर जिले के गांव खरमाण से गुजर रहीं एनसीआर नहर की मोरी में फंसा हुआ मिला. शव की पहचान हो गई है. इस बारे में खरखौदा पुलिस स्टेशन में मृतक मासूम के परिजनों की तरफ से उसकी गुमशुदगी की रपट दर्ज कराई गई थी. झज्जर के नागरिक अस्पताल में मासूम कन्हैया के शव का पोस्टमार्टम कराने के लिए पहुंचे.

बहादुरगढ़ सदर पुलिस के जांच अधिकारी के अनुसार कन्हैया 30 मार्च को अपने परिजनों को घर से खेलने की कह कर निकला था. लेकिन वह वापस नहीं लौटा. आसपास और परिचितों के यहां काफी खोजबीन के बाद में उसकी गुमशुदगी की रपट परिजनों ने खरखौदा थाने में दर्ज कराई थी. लेकिन गुरुवार को कंट्रोल रूम पर आई सूचना के बाद ही इस पूरे मामले का खुलासा हुआ.

नहर में फंसा मिला शव
जांच अधिकारी के अनुसार कंट्रोल रूम पर आई सूचना में बताया गया था कि खरमाण गांव से निकल रहीं एनसीआर नहर की मोरी में एक शव फंसा हुआ है. उसी सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को बाहर निकलवा कर उसकी पहचान कराने का प्रयास किया. लेकिन जब कोई जानकारी हासिल नहीं हो पाई तो शव को झज्जर के नागरिक अस्पताल में पहचान के लिए रखवाया गया था.
पांव में पड़े काले धागे से शिनाख्त हुई, शव परिजनों को सौंपा


उधर सोशल मीडिया पर दी गई जानकारी के बाद मृतक कन्हैया के परिजन यहां अस्पताल पहुंचे और उन्होंने मासूम के शरीर व पांव में पड़े एक काले डोरे से कन्हैया के शव की पहचान की. जांच अधिकारी का यह भी कहना था कि कन्हैया को तैरना नहीं आता था. सम्भव है कि शायद वह इसी कारण से अकाल मृत्यू को प्राप्त हुआ हो. जांच अधिकारी ने बताया कि शव का पोस्टमार्टम कराए जाने के बाद शव परिजनों के हवाले कर दिया गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज