Assembly Banner 2021

किसान आंदोलन के चलते बहादुरगढ़ के 3 और दिल्ली का एक मेट्रो स्टेशन बंद, जनता परेशान

4 मेट्रो स्टेशन बंद होने जनता को भारी परेशानियों का सामना करने पड़ रहा है

4 मेट्रो स्टेशन बंद होने जनता को भारी परेशानियों का सामना करने पड़ रहा है

Kisan Aandolan: मेट्रो बन्द होने पर दिल्ली जाने आने वालों की परेशानी बहुत अधिक बढ़ गई है.

  • Share this:
झज्जर. किसान आंदोलन (Kisan Aandolan) के चलते एक बार फिर से मेट्रो सेवाएं बाधित की गई है. मेट्रो रेल प्रशासन की ओर से मेट्रो स्टेशन बंद किए गए हैं. बहादुरगढ़ (Bahadurgarh) के 3 और राजधानी दिल्ली का एक मेट्रो स्टेशन बन्द कर दिया गया है. जिन मेट्रो स्टेशनों को बंद किया गया है उनमें बहादुरगढ़ के शहीद ब्रिगेडियर होशियार सिंह स्टेशन, बहादुरगढ़ सिटी और पंडित श्रीराम शर्मा मेट्रो स्टेशन हैं. वहीं दिल्ली का टिकरी बॉर्डर मेट्रो स्टेशन भी बन्द हैं. बता दें कि किसान स्थल पर आज अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मना रहे हैं. किसानों की भारी तादाद को देखते हुए मेट्रो स्टेशन बन्द किये गए हैं.

बता दें कि टीकरी बॉर्डर पर आज किसानों द्वारा अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जा रहा है. भारी संख्या में धरना स्थल पर महिलाएं जुटी हुई हैं. महिलाओं का कहना है कि महिला समाज का अभिन्न अंग है. आज महिलाएं किसानों के कंधे से कंधा मिला कर हर मोर्चे पर खड़ी हैं. टिकरी बॉर्डर पर आज धरना स्थल का स्टेज संचालन भी महिलाओं द्वारा किया जा रहा है. धरना स्थल पर पहुंची महिलाओं का कहना है कि जब तक कानून वापसी नहीं तब तक वे घर वापसी नहीं करेंगी.

Youtube Video




सरकार को चेतावनी देते हुए उन्होंने कहा कि सरकार की तानाशाही को देखते हुए महिलाएं सड़कों पर आई हैं. यह सोई हुई सरकार जब तक नहीं जगती तब तक महिलाएं सड़कों पर ही रहेंगी. उनका कहना है कि सरकार महिलाओं से डरती है , सरकार को पता है कि अगर महिलाएं सड़कों पर आई तो सरकार को हटा देंगी. साथ ही महिलाओं का यह भी कहना है कि जब तक संसद में महिलाओं की संख्या 50 प्रतिशत नहीं होगी तब तक महिलाओं को बराबरी का दर्जा नहीं मिल सकता.
बता दें कि किसान 102 दिन से टीकरी बॉर्डर पर कृषि कानूनों को रद्द करवाने ओर एमएसपी पर नया कानून बनाने की मांग को लेकर धरना दे रहे हैं. साथ ही सरकार को सन्देश भी दिया जा रहा है कि अगर उनकी मांगें पूरी नही हुई तो वे आंदोलन को तेज करेंगे. हालांकि समाधन बातचीत से निकलेगा लेकिन सरकार और किसानों के बीच बातचीत का डेडलॉक कब टूटेगा ये कोई नहीं जानता.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज