होम /न्यूज /हरियाणा /

शातिर बदमाश ने फर्जी SP बनकर पुलिस वालों को ही किया परेशान, व्हाट्सएप पर भेजे मैसेज, पूछा ये प्लान

शातिर बदमाश ने फर्जी SP बनकर पुलिस वालों को ही किया परेशान, व्हाट्सएप पर भेजे मैसेज, पूछा ये प्लान

पुलिस अधीक्षक वसीम अकरम ने बताया कि दोनों ही मामलों में पुलिस तह तक जाने का प्रयास कर रही है

पुलिस अधीक्षक वसीम अकरम ने बताया कि दोनों ही मामलों में पुलिस तह तक जाने का प्रयास कर रही है

Haryana Police: पुलिस अधीक्षक वसीम अकरम का कहना है कि दोनों ही मामलों में पुलिस तह तक जाने का प्रयास कर रही है. उम्मीद यहीं है कि आरोपी जल्द ही पुलिस गिरफ्त में होंगे और मामलों का खुलासा भी जल्द ही हो जाएगा.

झज्जर. साइबर क्राइम के प्रति आमजन को सजग करने के लिए पुलिस समय-समय पर जागरुकता अभियान या फिर लोगों को इस फ्राड़ से बचने के लिए आगाह करती रहती है. लेकिन इस बार साइबर क्राइम को समय-समय पर अंजाम देने वाले क्रिमिनल ने पुलिस के अधिकारियों का ही फोन नम्बर व फोटो का दुरुपयोग करने की योजना बना डाली है. ताजा मामला झज्जर जिले का है. यहां जिला पुलिस अधीक्षक वसीम अकरम के फोटो व फोन नम्बर का वहा्टसअप प्रोफाइल पर नाम और फोटो लगाकर दुरुपयोग किए जाने की योजना बना डाली है.

इतना हीं नहींं इसी प्रोफाइल पर जिले के सभी थाना और चौकी प्रभारियों की लोकेशन भी मांगी गई है. मामला साइबर सेल के संज्ञान में उस समय आया जब जिले के सम्बंधित अधिकारियों ने वर्दी में पुलिस अधीक्षक वसीम अकरम का फोटो देखकर इस बारे में साइबर थाना इंचार्ज से इस बारे में जानकारी मांगी गई. मामला फ्राड़ पाए जाने पर साइबर थाने में अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.

इस प्रकार के अपराध को अंजाम देने की फिराक में कौन-कौन लोग शामिल है इस बात का पता लगाने का पुलिस प्रयास कर रही है. उधर जिला पुलिस से ही जुड़ा एक अन्य मामला भी सामने आया है. इस मामले में कई जिलों के पुलिस अधीक्षकों के फोन नम्बर देकर जालसाजी करने का प्रयास किया गया. समाचार पत्रों में टॉवर लगाने सम्बंधित एक विज्ञापन दिया गया. प्रकाशित विज्ञापन में झज्जर, कुरूक्षेत्र, महेन्द्रगढ़ व रिवाड़ी के एसपी का नम्बर दिया गया है.

मामला संज्ञान में उस समय आया जब इन सभी जिलों के पुलिस अधीक्षकों के नम्बरों पर फोन आने शुरू हुए और उनसे टॉवर लगाने सम्बंधी जानकारियां मांगी गई. इस मामले में भी झज्जर की साईबर सेल में मामला दर्ज किया गया है. पुलिस अधीक्षक वसीम अकरम का कहना है कि दोनों ही मामलों में पुलिस तह तक जाने का प्रयास कर रही है. उम्मीद यहीं है कि आरोपी जल्द ही पुलिस गिरफ्त में होंगे और मामलों का खुलासा भी जल्द ही हो जाएगा.

Tags: Fraud, Haryana news

अगली ख़बर