लाइव टीवी

ट्रांसपोर्टरों की गुंडागर्दी, हड़ताल के नाम पर ड्राइवरों के साथ कर रहे मारपीट और दुर्व्यवहार

Pradeep Dhankhar | News18 Haryana
Updated: November 27, 2019, 3:01 PM IST
ट्रांसपोर्टरों की गुंडागर्दी, हड़ताल के नाम पर ड्राइवरों के साथ कर रहे मारपीट और दुर्व्यवहार
हड़ताल के नाम पर वाहनों की हवा निकाल रहे ट्रांसपोर्टर

बहादुरगढ़ (Bahadurgarh) के सेक्टर 17 मोड पर एचएसआईआईडीसी (HSIIDC) की ओर से माल लेकर जाने वाले कमर्शियल वाहनों (Commercial vehicles) को जबरदस्ती रोका जा रहा है और विरोध करने वाले वाहन चालकों के साथ मारपीट करने के साथ-साथ वाहनों की हवा भी निकाल दी गई.

  • Share this:
झज्जर. बहादुरगढ़ (Bahadurgarh) में हड़ताली ट्रांसपोर्टरों (Transporters) की गुंडागर्दी का मामला सामने आया है. ट्रांसपोर्ट यूनियन से जुड़े पदाधिकारी जबरदस्ती कमर्शियल वाहनों (Commercial vehicles) की आवाजाही रोकने के लिए वाहनों के टायरों की हवा निकाल रहे हैं जिससे वाहन चालक परेशान हैं. इतना ही नहीं ट्रांसपोर्टरों की हड़ताल का विरोध करने वाले कमर्शियल वाहन चालकों के साथ मारपीट भी की जा रही है.

बहादुरगढ़ (Bahadurgarh) के सेक्टर 17 मोड पर एचएसआईआईडीसी (HSIIDC) की ओर से माल लेकर जाने वाले कमर्शियल वाहनों (Commercial vehicles) को जबरदस्ती रोका जा रहा है और विरोध करने वाले वाहन चालकों के साथ मारपीट करने के साथ-साथ वाहनों की हवा भी निकाल दी गई. परेशान वाहन चालकों का कहना है कि ट्रांसपोर्ट यूनियन के पदाधिकारी उनके साथ जबरदस्ती कर रहे हैं. इतना ही नहीं ट्रकों में ऐसा सामान भी है, जो खराब होने के कगार पर है क्योंकि ऑल इंडिया ट्रक वेलफेयर एसोसिएशन के आह्वान पर आज लगातार हड़ताल का तीसरा दिन है.

पुलिस और प्रशासन नहीं दे रहा ध्यान

ट्रांसपोर्टरों की गुंडागर्दी की तरफ ना तो पुलिस ध्यान दे रही है और ना ही प्रशासन. बता दें कि 11 सूत्रीय मांगों को लेकर बहादुरगढ़ की 19 ट्रांसपोर्ट यूनियन आज तीसरे दिन भी हड़ताल पर हैं लेकिन इन यूनियन के पदाधिकारियों की दादागिरी से बाहर से आने-जाने वाले वाहन चालक भी परेशान हैं. वाहन चालकों को जबरदस्ती हड़ताल में शामिल होने के लिए मजबूर किया जा रहा है.

ट्रांसपोर्टर्स की हैं ये मांगें

दरअसल ट्रांसपोर्टर नए मोटर व्हीकल एक्ट, डीजल रेट की बढ़ोतरी, टोल टैक्स और थर्ड पार्टी इंश्योरेंस बढ़ाने का विरोध कर रहे हैं. इतना ही नहीं ट्रांसपोर्टर धारा 144-ई को खत्म करने और 25 टन क्षमता वाले ट्रक पर सालाना न्यूनतम आय 90 हजार करने की मांग कर रहे हैं और सरकार द्वारा उचित आश्वासन नहीं देने पर अनिश्चितकालीन हड़ताल जारी रखने की बात कह रहे हैं.
यह भी पढ़ें- 100 करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च करने के बाद भी गुरुग्राम बना हुआ गंदगी वाला शहर
Loading...

यह भी पढ़ें- घर जा रहे शख्स को चाकू की नोक पर लूटा, अंगूठी, चेन व नकदी ले फरार हुए बदमाश

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए झज्‍जर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 27, 2019, 3:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...