किसानों पर एक बार फिर पड़ा कुदरत का कहर, ओलावृष्टि से फसल बर्बाद

ओले दिखाते किसान
ओले दिखाते किसान

सरसों, गेंहू और सब्जीयों पर ओलावृष्टि का काफी प्रभाव पड़ा. सबसे ज्यादा नुकसान सरसों की फसल पर हुआ है.

  • Share this:
एक बार फिर किसानों पर कुदरत का कहर पड़ा है. वीरवार सुबह हुई ओलावृष्टि ने किसानों पर ऐसी मार मारी की वो उठ नहीं पाए. सुबह-सुबह किसानों की आंख भी नहीं खुली थी कि कुदरत ने उनकी एक साल की मेहनत पर पानी फेर दिया.

सरसों, गेंहू और सब्जीयों पर ओलावृष्टि का काफी प्रभाव पड़ा. सबसे ज्यादा नुकसान सरसों की फसल पर हुआ है. सरसों पर आई फलियां पूरी तरह से फट गई. उसके अंदर से बने सरसों के दाने खाली हो गए. किसानों की मानें तो करीब 90 प्रतिशत फसल बर्बाद हो गई है.

किसानो का कहना है कि वो सो रहे थे, सुबह उठकर देखा तो उनकी साल भर की मेहनत बर्बाद हो चुकी थी. किसानो के अनुसार पचास ग्राम से ज्यादा भारी-भारी ओले पड़े है, जिसने सरसो की फसल को पूरी तरह से नष्ट कर दिया. किसानों ने सरकार से मांग की है कि तुरंत प्रभाव से किसानों की फसलों की गिरदावरी कराकर उन्हें मुआवजा राशि दी जाए.



वहीं दूसरी ओर फतेहाबाद के नाडोडी गांव में आसमानी बिजली गिरने से एक किसान को भारी नुकसान हो गया. किसान के खेतों में ढाणी में भैंस पर आसमानी बिजली पड़ी जिससे उसकी मौत हो गई. किसान सरकार से मुाजवजे की मांग कर रहा है.
ये भी पढ़ें:-

PHOTOS: कभी रिक्शा चलाने को मजबूर हो गया था ये किसान, ऐसे बना करोड़पति

PHOTOS: सोनीपत की सौम्या बनी हरियाणा की पहली महिला BSF अस्सिटेंट कमांडेंट

'Hug Day' पर गले मिलने से इनकार करने पर प्रेमी ने प्रेमिका को दिया जहर, मौत
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज