झज्जर: सरकार को सरसों नहीं बेचेंगे किसान, प्राइवेट खरीदार MSP से ज्यादा दे रहे भाव

किसानों को मिल रहा एमएसपी से ज्यादा भाव

Mustard MSP in Haryana: बहादुरगढ़ में आज से सरसों की खरीद शुरू हो रही है, लेकिन सरकार की झोली सरसों से खाली रह सकती है. वजह है यहां किसानों की सरसों न्यूनतम समर्थन मूल्य से 700 रुपए क्विंटल ज्यादा के भाव बिक रही है.

  • Share this:
झज्जर. बहादुरगढ़ मंडी में सरसों की सरकारी खरीद आज से शुरू होने जा रही है, लेकिन इस बार यहां किसान सरकार को सरसों नहीं बेचेंगे. किसानों ने ये फैसला इसलिए लिया है, क्योंकि इस बार प्राइवेट खरीददार सरकार के एमएसपी से ज्यादा भाव दे रहे हैं. किसानों की सरसों एमएसपी से करीबन 700 रुपए प्रति क्विंटल ज्यादा के भाव में बिक रही है. आज से बहादुरगढ़ में सरसों की सरकारी खरीद शुरू होनी है.

वहीं हम आपको बता दें कि यहां एक अप्रैल से गेहूं की खरीद शुरू होनी है. हरियाणा सरकार की वेबसाइट fasal.haryana.gov.in में मेरी फसल मेरा ब्यौरा पर रजिस्टर्ड किसानों की फसल सरकार खरीदेगी. वहीं बहादुरगढ के नजदीकी दिल्ली के गांवों के किसानों की फसल पर असमंजस अब भी बरकरार है. आढ़तीयों का कहना है कि जब किसान को कहीं भी जाकर फसल बेचने की आजादी है तो दिल्ली के किसानों को भी बहादुरगढ अनाज मंडी में फसल बेचने की आजादी मिलनी चाहिए. फसल खरीदने के लिए अभी तक यहां कोई व्यवस्था नहीं की गई है, जिससे आढ़ती भी परेशान हैं.

बहादुरगढ़ मंडी के हाल बदहाल, लगे कूड़े के ढेर, बदबू का डेरा
इधर बहादुरगढ़ अनाज मंडी के हालात भी बदहाल हैं. यहां करीबन 20 दिनों से सफाई नहीं हुई है. जगह जगह कूड़े के ढेर लगे हुए हैं. इससे उड़ने वाली बदबू से लोगों का बुरा हाल है. यहां न तो किसानों के बैठने के लिए जगह है और ना पानी की व्यवस्था. शैड की व्यवस्था नहीं होने से किसानों की फसल भीगने का भी खतरा बना हुआ है. बदहाली के बीच किसान अपनी फसल बेचने को मजबूर है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.