• Home
  • »
  • News
  • »
  • haryana
  • »
  • झज्जर: अपने ननिहाल में मिला 12 साल का मासूम, दोनों छात्राओं ने भी पकड़ी घर की राह

झज्जर: अपने ननिहाल में मिला 12 साल का मासूम, दोनों छात्राओं ने भी पकड़ी घर की राह

प्रेस वार्ता कर पुलिस ने किया मामले का खुलासा

प्रेस वार्ता कर पुलिस ने किया मामले का खुलासा

झज्जर (Jhajjar) जिले में 12 वर्षीय एक बच्चे व दो छात्राओं के गायब (Missing) होने के मामले में पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है.

  • Share this:
झज्जर. हरियाणा (Haryana) के झज्जर (Jhajjar) जिले में 12 वर्षीय एक बच्चे व दो छात्राओं के गायब (Missing) होने के मामले में पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है. पुलिस ने 48 घंटे के अंदर 12 वर्षीय बालक को उसी के ननिहाल से ढूंढ निकाला है, वहीं घर से गायब हुई दोनों छात्राएं भी अपने घर पहुंच गई हैं. छात्राओं ने बताया कि पारिवारिक कलह के चलते उन्होंने घर छोड़ा था. इस बीच उनके साथ कोई अनहोनी न हो इसलिए अपने साथ मिर्टी पाउडर लेकर घर से निकली थीं. वहीं 12 वर्षीय मासूम के लापता होने की वजह उसके पेपर में कम नंबर आना बताया गया है.

होटल व धर्मशाला में रुकने के लिए आधार कार्ड और पैसे नहीं थे

झज्जर से 12 वर्षीय बालक व दो स्कूली छात्राओं के अचानक घर से गायब होने के मामले की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है. बालक को पुलिस ने जहां दिल्ली के नांगलोई स्थित उसके ननिहाल से बरामद किया, वहीं गायब हुई दोनों छात्राएं पास में आधार कार्ड व पैसे कम होने और किसी भी धर्मशाल या फिर होटल में कोई कमरा नहीं मिलने के कारण घर वापस लौट आईं. घर जाने से पहले छात्राएं परिजनों के पास पहुंच पाती उससे पहले ही स्थानीय पुलिस ने पूछताछ के लिए उन्हें अपने कब्जे में ले लिया था.

बालक घूमने का बहाना बनाकर चला गया था ननिहाल

पुलिस की जांच में इन दोनों ही मामलों में जो बातें खुलकर सामने आई हैं, उसके अनुसार गुरुवार की सुबह अपने घर से घूमने का बहाना बनाकर 12 साल का छात्र घर से अपने ननिहाल चला गया था. दरअसल, इन दिनों स्कूल द्वारा लिए जा रहे रूटीन के टेस्ट में नंबर कम आने से छात्र काफी परेशान था. उसे अपने अभिभावकों के गुस्से का शिकार ना होना पड़े, इसी चलते वह घर छोड़कर चला गया था.

प्रेस वार्ता कर पुलिस ने किया मामले का खुलासा

पुलिस की मानें तो मासूम बस में सवार होकर पहले बहादुरगढ़ पहुंचा और बाद में पैदल-पैदल चलकर नांगलोई दिल्ली स्थित अपने ननिहाल चला गया था. डीएसपी रणबीर सिंह व श्मशेर सिंह ने सिटी थाना प्रभारी जितेन्द्र के साथ एक संयुक्त पत्रकार वार्ता बुलाकर मामले का खुलासा किया. गायब छात्राओं के मामले का खुलासा करते हुए डीएसपी रणधीर सिंह ने बताया कि बुधवार को घर से ट्यूशन पढ़ने का बहाना बनाकर दोनों छात्राएं घर से निकली थीं. दोनों छात्राएं अपने घर में पारिवारिक कलह से परेशान थीं और इसी चलते उन्होंने घर छोड़ने का मन बनाया था.

डीएसपी ने बताया कि दोनों छात्राओं के पास न तो आधार कार्ड था और ना ही ज्यादा पैसे थे. गुस्से में आकर उन्होंने अपना घर तो छोड़ दिया, लेकिन कोई भी आईडी नहीं होने के चलते उन्हें कहीं भी किसी होटल या फिर धर्मशाला में कमरा नहीं मिला. इस चलते यह जब वापस आ रही थी तब बस में ही बैठी महिला पुलिस की एक सिपाही ने शक होने पर इनसे पूछताछ की, जिसमें पूरी बात का खुलासा हुआ.

डीएसपी ने इन छात्राओं का स्थानीय अस्पताल में मेडिकल परीक्षण कराया और बाद में अदालत में इनके बयान लेने के बाद इन्हें परिजनों को सौंप दिया.

ये भी पढ़ें:- झज्जर: घर से बाहर घूमने निकले मासूम का अपहरण, दो छात्राएं भी हुईं गायब

ये भी पढ़ें:- 5 घण्टे में लापता बच्ची को पुलिस ने ढूंढकर माता-पिता को सौंपा

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज