हरियाणा के किसानों को जल्द मिलेंगे ट्यूबवेल कनेक्शन, रखी गई ये शर्तें

मुख्यमंत्री ने आदेश दिए थे
मुख्यमंत्री ने आदेश दिए थे

कई सालों से अधर में लटके किसानों के ट्यूबवैल कनेक्शन अब जल्द जारी हो जायेंगे. मुख्यमंत्री ने हरियाणा भर में किसानों के लंबित ट्यूबवेल कनेक्शन जारी करने के आदेश दिये थे.

  • Share this:
प्रदेशभर के किसानों को जल्द ही बिजली विभाग से ट्यूबवेल कनेक्शन मिलने वाले हैं. इसके लिये डिमांड नोटिस भेजने की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है. कनेक्शन के एस्टीमेट बनाये जा रहे हैं. प्रदेश स्तर पर एक टेंडर प्रक्रिया भी शुरू हो चुकी है जिसके पूरा होने के साथ ही हजारों किसानों को ट्यूबवेल कनेक्शन मिल जायेंगे. बहादुरगढ़ सब डिविजन में 165 आवेदकों में से 130 आवेदकों ने कनसेंट राशि भी जमा करवा दी है.

इस बार ट्यूबवेल कनेक्शन देने से पहले किसान को फाइव स्टार बिजली की मोटर, माईक्रो इरिगेशन और अंडरग्राउन्ड वाटर पाइप लाइन दबाने की शर्त रखी गई. कृशि मंत्री ओमप्रकाष धनखड़ का कहना है कि ये शर्तें किसानों के हक के लिये ही रखी गई है. इससे बिजली और पानी बचेगा और पानी बचेगा तो ही पानी रहेगा वर्ना संकट बड़ा हो जायेगा.

मुख्यमंत्री ने दिए थे आदेश



कई सालों से अधर में लटके किसानों के ट्यूबवैल कनेक्शन अब जल्द जारी हो जायेंगे. मुख्यमंत्री ने हरियाणा भर में किसानों के लंबित ट्यूबवेल कनेक्शन जारी करने के आदेश दिये थे, जिसके बाद बिजली विभाग की तरफ से आवेदक किसानों को डिमांड नोटिस भेजे गये.
किसानों ने किया था आवेदन

बहादुरगढ़ बिजली विभाग के एक्सईएन रामपाल ने बताया कि 31 दिसम्बर 2018 तक जिन किसानों ने ट्यूबवेल कनेक्शन के लिये आवेदन किया था उन सब किसानों को ट्यूबवेल के लिये बिजली कनेक्शन दिया जा रहा है. उन्होंने बताया कि बहादुरगढ़ सब डिविजन के तहत 165 आवेदन आये थे, जिनमें से 130 ने 30 हजार रूपये की कनसेंट राशि भर दी है और अब उनके  लाइन और कनेक्शन के एस्टीमेट बनाये जा रहे हैं. कनसेंट राशि कनेक्शन के एस्टीमेट में एडजेस्ट की जायेगी. प्रदेश लेवल पर चल रही टेंडर प्रक्रिया पूरी होने के साथ ही किसानों को कनेक्शन रीलिज कर दिये जायेंगे.

कनेक्शन के लिए लगाई गई हैं ये शर्तें

बिजली विभाग ने पहली बार ट्यूबवेल कनेक्शन के लिये कुछ शर्तें भी लगाई है. किसान के खेत में कनेक्शन लगाने से पहले बिजली विभाग से सुनिश्चित करेगी कि किसान ने फाइव स्टार बिजली मोटर, माइक्रो इरिगेशन और अंडरग्राउन्ड वाटर पाइप लाइन बिछाई है या नहीं. ये तीनों शर्तें पूरी होने के बाद ही किसान को बिजली कनेक्शन दिया जायेगा. कृषि मंत्री ओमप्रकाष धनखड़ का कहना है कि ये तीनों शर्तें किसानों के हक में ही तय की गई हैं.

ये भी पढ़ें- यमुनानगर में पुलिस चौकी के बाहर हुआ हनुमान चालीसा का पाठ

ये भी पढ़ें- जोमेटो कर्मचारियों ने ढाबे में की तोड़फोड़, वीडियो वायरल
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज