• Home
  • »
  • News
  • »
  • haryana
  • »
  • झज्जर : बहादुरगढ़ में सरपंच पर गबन के आरोप में FIR, 10 लाख का घपला

झज्जर : बहादुरगढ़ में सरपंच पर गबन के आरोप में FIR, 10 लाख का घपला

सदर थाना पुलिस ने आईपीसी की धारा 406, 409 और 420 के तहत मामला दर्ज किया.

सदर थाना पुलिस ने आईपीसी की धारा 406, 409 और 420 के तहत मामला दर्ज किया.

झज्जर (Jhajjar) में बहादुरगढ़ (Bahadurgarh) के डाबौदा खुर्द गांव की सरपंच (Sarpanch) के खिलाफ और एक एफआईआर (FIR) दर्ज की गई. पहले पंचायती जमीन से मिट्टी चोरी (Theft) का मामला दर्ज किया गया था. अब सामुदायिक केंद्र (Community Center) के नाम पर सरकारी पैसों के गबन (Embezzlement) का मामला दर्ज हुआ है.

  • Share this:


झज्जर. बहादुरगढ़ (Bahadurgarh) के डाबौदा खुर्द गांव की सरपंच (Sarpanch) पुष्पा जयंत तंवर के खिलाफ एक और एफआईआर (FIR) दर्ज की गई. पहले पंचायती जमीन से मिट्टी चोरी (Theft) का मामला दर्ज किया गया था. अब सामुदायिक केंद्र (Community Center) के नाम पर सरकारी पैसों के गबन (Embezzlement) का मामला दर्ज हुआ है. सदर थाना पुलिस ने आईपीसी (IPC) की धारा 406, 409 और 420 के तहत मामला दर्ज किया है. गांव के पंचों की शिकायत पर जब जांच हुई तो गबन का मामला सामने आया. इसके बाद ही बीडीपीओ ने एफआईआर दर्ज करवाई. हालांकि पंच अभी भी संतुष्ट नहीं हैं, क्योंकि FIR में 9 लाख 79 हजार 7 सौ 63 रुपये का गबन दिखाया गया है जबकि पंचों का कहना है कि सामुदायिक केंद्र के नाम पर 12 लाख 84 हजार रुपये गबन किए गए हैं.

खनन विभाग ने मिट्टी चोरी का मामला दर्ज कराया था

बता दें कि महिला सरपंच पर खनन विभाग ने गांव की पंचायती जमीन से बिना परमिशन मिट्टी चोरी का मामला दर्ज करवाया था. अब खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी ने सरपंच पुष्पा जयंत तंवर पर कम्युनिटी सैंटर के नाम पर गबन का मामला दर्ज करवाया है. बीडीपीओ द्वारा दर्ज करवाई गई एफआईआर में कहा
गया है कि सरपंच ने कम्युनिटी सेंटर निर्माण के लिए सामग्री के नाम पर 9 लाख 79 हजार 763 रुपयों का गबन किया है. पंचों की शिकायत पर जब गांव का निरीक्षण किया गया तो कहीं भी कम्युनिटी सेंटर के नाम पर निर्माण सामग्री नहीं पाई गई. सदर थाना पुलिस अधिकारी सुरेंद्र का कहना है कि मामला दर्ज कर
तफ्तीश शुरू कर दी गई है. उन्होंने कहा कि मामले में जो भी तथ्य सामने आएंगे उन्हें केस का हिस्सा बनाया जाएगा.

3 लाख से ज्यादा रुपये मजदूरी के नाम पर निकाले गए

गौरतलब है कि गांव के पंच जोगेंद्र और प्रदीप की शिकायत पर कम्युनिटी सेंटर के नाम पर हुए गबन की जांच की गई थी. पंचों का कहना है कि 9 लाख 79 हजार 763 रुपये तो निर्माण सामग्री के नाम पर और 3 लाख से ज्यादा रुपये मजदूरी के नाम पर निकाले गए थे. कुल मिलाकर 12 लाख 84 हजार के करीब
का गबन किया गया था, लेकिन एफआईआर में महज 9 लाख 79 हजार का गबन दिखाया गया. पंचों का कहना है कि मजदूरी के नाम पर हुए गबन की राशि भी एफआईआर में दर्ज होनी चाहिए.

पंचों का कहना है कि मजदूरी के नाम पर हुए गबन की राशि भी एफआईआर में दर्ज होनी चाहिए.


डस्टबिन खरीद के नाम पर घोटाला

डाबौदा खुर्द गांव की महिला सरपंच पर सबसे पहला आरोप गांव में डस्टबिन खरीद के नाम पर घोटाला करने का लगा था. उसके बाद भी पंचों ने कई तरह के आरोप लगाए, लेकिन दो मामलों में एफआईआर दर्ज होने से सरपंच की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही है. मिट्टी चोरी वाले मामले के बाद से सरपंच को जिला
उपायुक्त ने सस्पेंड भी कर रखा है.

ये भी पढ़ें - करनाल : दो कैंटर के बीच टक्कर में दोनों के चालकों की मौत

ये भी पढ़ें - पिज्जा लेने गई लड़की को अगवा कर 2 करोड़ रुपए मांगे, 24 घंटे में पकड़े गए बदमाश

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज