Kisan Aandolan: रेप केस में योगेंद्र यादव से पूछताछ, बोले- दोषियों को मिलनी चाहिए सज़ा

योगेंद्र यादव ने कहा महिला के साथ बदसलूकी आंदोलन बर्दाश्त नहीं करेगा.

योगेंद्र यादव ने कहा महिला के साथ बदसलूकी आंदोलन बर्दाश्त नहीं करेगा.

Kisan Aandolan: योगेंद्र यादव ने कहा कि उन्हें युवती से छेड़खानी की जानकारी थी लेकिन पहले पीड़िता का उपचार प्राथमिकता था.

  • Share this:

झज्जर. किसान आंदोलन (Kisan Aandolan) में टिकरी बॉर्डर पर आई पश्चिम बंगाल की महिला के साथ रेप के मामले में पुलिस ने किसान नेता योगेंद्र यादव (Yogendera Yadav) से पूछताछ की. पुलिस ने नोटिस देकर किसान नेता योगेंद्र यादव को पूछताछ के लिए बुलाया था. योगेंद्र यादव ने कहा कि संयुक्त मोर्चा जांच में पूरा सहयोग करेगा. महिला के साथ बदसलूकी आंदोलन बर्दाश्त नहीं करेगा. संयुक्त मोर्चा जांच के लिए आंदोलन में शामिल हर व्यक्ति से सहयोग करवाने को तैयार है. यादव ने कहा उन्हें छेड़खानी की जानकारी थी लेकिन पहले पीड़िता का उपचार प्राथमिकता था.

योगेंद्र यादव ने कहा कि युवती के साथ छेड़खानी से कुछ ज्यादा हुआ, इसका खुलासा तो 2 मई को हुआ है. यादव ने कहा कि पीड़िता के पिता ने दो लोगों के खिलाफ शिकायत दी थी, लेकिन 6 पर एफआईआर हुई थी इसीलिये सवाल उठाया था. यादव ने कहा कि किसान आन्दोलन को बदनाम करने की कोशिश पहले भी हुई, लोग इस घटना का भी इस्तेमाल करेंगे. लेकिन संयुक्त मोर्चा और आंदोलन सच के साथ है और दोषियों को सजा मिलनी चहिए.

बता दें कि पश्चिम बंगाल में चुनाव के दौरान बीजेपी के खिलाफ प्रचार करने के लिए गए आप नेता और दो युवतियों के संग एक पश्चिम बंगाल की 24 वर्षीय युवती भी टिकरी बॉर्डर पर पहुंची थी. ट्रेन से वापस लौटते वक्‍त ही उससे छेड़छाड़ हो गई. मगर वह चुप रही. मगर टिकरी बॉर्डर पर रहने के दौरान युवती ने एक वीडियो अपने पिता को भेजा और उसमें कहा कि उसके साथ गलत काम हुआ है. इसके बाद युवती को रक्‍तस्राव भी हो गया. मगर इसे माहवारी मान लिया गया.

युवती फिर कोरोना से संक्रमित हो गई और इलाज के दौरान करीब दस दिन पहले उसने दम तोड़ दिया. किसानों ने कोरोना संक्रमित इस युवती के शव की शव यात्रा भी निकाली. कोरोना से किसाना आंदोलन में होने वाले यह पहली मौत थी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज