• Home
  • »
  • News
  • »
  • haryana
  • »
  • JHAJJAR KISAN ANDOLAN THE VICTIM WAS RAPED FIRST ON THE TRAIN AND THEN ON APRIL 12 AT THE SITE OF AGITATION

Tikri Border Rape Case: पीड़िता के साथ पहले ट्रेन और फ‍िर 12 अप्रैल को आंदोलन स्‍थल पर हुआ था रेप

टिकरी बॉर्डर रेप केस के आरोपी अनिल को पुल‍िस ने कि‍या ग‍िरफ्तार

Haryana News: डीएसपी ने यह भी बताया कि आरोपी अनिल को अदालत से तीन दिनों के रिमांड पर लिया गया है. आरोपी से अभी वह मोबाइल भी बरामद किया जाना है, जोकि उसने हरिद्वार में छिपाए होने की बात कही है.

  • Share this:
टिकरी बॉर्डर स्थित किसान आंदोलन में पश्चिम बंगाल की एक युवती के साथ गैंगरेप किए जाने के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है. घटना के मुख्य आरोपी अनिल की गिरफ्तारी के बाद पुलिस के सामने खुलासा हुआ कि पीड़‍िता की मुख्य आरोपी ने अपने मोबाइल फोन से वीडियो भी बनाई थी. इस वीड‍ियो के जर‍िए वह उस युवती को ब्‍लैकमेल करता था और उसका बार-बार दुष्कर्म किया गया. यह जानकारी डीएसपी पवन कुमार ने दी.

डीएसपी ने बताया कि मुख्य आरोपी अनिल की गिरफ्तारी होने के बाद यह भी सामने आया है क‍ि पीड़िता आरोपियों के पश्चिम बंगाल के चुनाव प्रचार के दौरान ही सम्पर्क में आई थी. इसके बाद आरोपी अन‍िल उसे किसान आंदोलन में शिरकत कराने के लिए टिकरी बॉर्डर स्थित आंदोलन स्थल पर ले आए. इस बीच ट्रेन में भी आरोप‍ियों ने पीड़‍िता के साथ दुष्‍कर्म क‍िया और अंकुर ने छेड़खानी की. 12 अप्रैल को यहां आंदोलन स्थल पर आने के बाद टैंट में भी पीड़ि‍ता के साथ दुष्कर्म किया गया.

यहां वीडियो का पता चलते ही दूसरे आरोपी अनूप ने दबाव बनाकर पीड़‍िता से दुष्कर्म किया. इस पूरे मामले का इनके साथी जगदीश बराड़ को पता था, लेकिन उन्होंने पूरे मामले को इसलिए दबाए रखा कि कहीं इस मामले में किसान आंदोलन बदनाम न हो जाए.

डीएसपी ने यह भी बताया कि आरोपी अनिल को अदालत से तीन दिनों के रिमांड पर लिया गया है. आरोपी से अभी वह मोबाइल भी बरामद किया जाना है, जोकि उसने हरिद्वार में छिपाए होने की बात कही है. पुलिस के अनुसार, आरोपी किसान सोशल आर्मी बनाकर किसान आंदोलन में सक्रिय थे. घटना का मुख्य आरोपी अनिल रिटायर्ड फौजी है और उसने 2016 में ही रिटायरमेंट ले ली थी.

डीएसपी ने दावा किया कि जल्द ही घटना से जुड़े अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा. बता दें कि इस मामलें में पीड़ि‍ता की 30 अप्रैल को कोरोना के चलते मौत हो चुकी है. बाद में पीडि़ता के पिता ने ही 9 मई को घटना से जुड़े आधा दर्जन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया था. आरोपियों में दो महिलाएं भी शामिल है.