Surgical Strike 2.0 : शहीद विक्रांत के पिता की ख्वाहिश- दूसरा बेटा भी सेना में हो भर्ती

शहीद विक्रांत के पिता
शहीद विक्रांत के पिता

सार्जेंट विक्रांत की शहादत पर उनके पिता को गर्व है और वे चाहते हैं कि उनका दूसरा बेटा भी सेना में भर्ती हो जाए ताकि देश के दुश्मनों को सबक सिखाया जा सके.

  • Share this:
जम्मू के बडगाम में भारतीय वायु सेना के एमआई-7 हेलीकॉप्टर क्रैश में झज्जर के भदानी गांव का बेटा विक्रांत भी शहीद हो गया. शहीद विक्रांत के पिता कृष्ण सहरावत का गुस्सा फूटा है. उन्होंने देश के राजनीतिक दलों से कहा है कि वह रोज रोज के इस मसले को खत्म करने के लिए पाकिस्तान से आर पार की लड़ाई करें, ताकि इस देश की माओं की गोद सूनी ना हो और पत्नियों का सुहाग सलामत रहे.

उन्होंने कहा कि अगर देश को जरूरत है, तो वह भी सेना में जाकर आर-पार की जंग के लिए तैयार हैं. सार्जेंट विक्रांत की शहादत पर उनके पिता को गर्व है और वे चाहते हैं कि उनका दूसरा बेटा भी सेना में भर्ती हो जाए ताकि देश के दुश्मनों को सबक सिखाया जा सके.

वहीं विक्रांत की शहादत की सूचना मिलते ही ग्रामीण विक्रांत के घर पर इकट्ठे हो गए विक्रांत की शहादत पर पूरे परिवार और गांव वालों को गर्व है. परिवार और गांव यह चाहता है कि देश के बेटे हर रोज सीमाओं पर शहीद हो रहे हैं, ऐसे में पाकिस्तान से आर पार की लड़ाई कर उसे मुंहतोड़ जवाब देने की जरूरत है.



बता दें कि 33 साल के सार्जेंट विक्रांत साल 2005 में भारतीय वायु सेना में भर्ती हुए थे. करीब 7 साल पहले विक्रांत की शादी सुमन से हुई थी. 4 भाई बहनों में विक्रांत अपने पिता की तीसरी संतान है. विक्रांत के पिता खेतीबाड़ी करते हैं. विक्रांत के दो छोटे-छोटे बच्चे हैं.
ये भी पढ़ें:-

राजकीय सम्मान के साथ हुआ शहीद सोमबीर का अंतिम संस्कार, 7 साल के बेटे ने दी मुखाग्नि

एयर स्ट्राइक: ऑटो ड्राइवर ने लिया था ये प्रण, अब फ्री में एक महीने तक चलाएगा ऑटो

बडगाम में एयरफोर्स का चॉपर क्रैश, हरियाणा का लाल शहीद
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज