बहादुरगढ़ के पवन वर्मा बने हरियाणा स्वर्णकार संघ के प्रधान

बहादुरगढ़ के गोरैया टूरिस्ट कॉम्‍प्‍लेक्स में अखिल भारतीय स्वर्णकार संघ के बैनर तले प्रदेशभर के स्वर्णकारों की बैठक हुई. इसमें पवन वर्मा को रविवार को हरियाणा स्वर्णकार संघ का प्रधान चुना गया.

Pradeep Dhankhar | News18 Haryana
Updated: September 10, 2018, 5:21 PM IST
बहादुरगढ़ के पवन वर्मा बने हरियाणा स्वर्णकार संघ के प्रधान
मीडिया से चर्चा करते हुए पवन वर्मा.
Pradeep Dhankhar
Pradeep Dhankhar | News18 Haryana
Updated: September 10, 2018, 5:21 PM IST
भारतीय दंड संहिता की धारा 411 और 412 को खत्म करने के लिए देशभर के स्वर्णकार सड़कों पर उतर कर आंदोलन करेंगे. दरअसल चोरी के आभूषण खरीदने पर इन धाराओं के तहत स्वर्णकारों के खिलाफ पुलिस मुकदमा दर्ज करती है. गहनों पर और उन्‍हें बेचने वाले के चेहरे पर नहीं लिखा होता कि वह चोर है या वह आभूषण चोरी का है. इसलिए सरकार को इन धाराओं को तुरंत खत्म करना चाहिए.

यह बात हरियाणा स्वर्णकार संघ के नवचयनित प्रधान पवन वर्मा ने कही. उन्‍होंने इन धाराओं के खिलाफ बड़ा आंदोलन करने की घोषणा की है. दरअसल पवन वर्मा को रविवार को हरियाणा स्वर्णकार संघ का प्रधान चुना गया. बहादुरगढ़ के गोरैया टूरिस्ट कॉम्‍प्‍लेक्स में अखिल भारतीय स्वर्णकार संघ के बैनर तले प्रदेशभर के स्वर्णकारों की बैठक हुई. इसमें प्रधान के तौर पर बहादुरगढ़ के पवन वर्मा को प्रधान और अंबाला के राजेंद्र वर्मा को महामंत्री चुना गया.

पवन वर्मा ने भारतीय दंड संहिता की इन धाराओं को हटाने के अलावा प्रदेशभर में स्वर्णकारों के लिए धर्मशाला बनवाने और स्वर्णकारों के हितों की रक्षा के लिए भी महत्वपूर्ण कदम उठाने की बात कही. स्वर्णकार संघ हरियाणा की इस बैठक में अखिल भारतीय स्वर्णकार संघ के पदाधिकारी भी मौजूद रहे. चुनाव की पूरी प्रक्रिया अखिल भारतीय स्वर्णकार संघ के प्रधान कश्मीरा सिंह की देखरेख में की गई.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर