• Home
  • »
  • News
  • »
  • haryana
  • »
  • Kisan Aandolan: किसान नेता मानसा के समर्थकों को खालिस्तानी मूवमेंट चला रहे पन्नू के समर्थकों ने जमकर पीटा

Kisan Aandolan: किसान नेता मानसा के समर्थकों को खालिस्तानी मूवमेंट चला रहे पन्नू के समर्थकों ने जमकर पीटा

हमले में पंजाब के मानसा जिले के किसान गुरविंदर के सिर में गंभीर चोट आई है

हमले में पंजाब के मानसा जिले के किसान गुरविंदर के सिर में गंभीर चोट आई है

Kisan Aandolan: दबी जुबान में कहा यह भी जा रहा है कि किसान आंदोलन में मौजूद खालिस्तानी समर्थकों को रुलदू सिंह मानसा की टिप्पणी नागवार गुजरी और उन्हीं पर हमला करने के लिए रात को उनके कैंप में हमलावर पहुंचे थे.

  • Share this:
झज्जर. टिकरी बॉर्डर पर आंदोलन कर रहे किसान नेता रुलदू सिंह मानसा को खालिस्तानी मूवमेंट (Khalistan movement) चला रहे गुरपतवंत सिंह पन्नू (Gurpatwant Singh Pannu) पर कमेंट करने महंगा पड़ता जा रहा है. पहले उन्हें 15 दिन के लिए संयुक्त मोर्चा ने सस्पेंड किया और अब उनके समर्थकों पर पुन्नू समर्थकों ने हमला कर दिया. इस हमले में एक किसान को गंभीर चोट आई हैं, जबकि एक किसान के हाथ पर चोट आई है. मामला बहादुरगढ़ के सेक्टर 9 कम्युनिटी सेंटर के पास का है. जहां पंजाब किसान यूनियन नेता के नेता रुलदु सिंह मानसा का कैंप बना हुआ है. रात करीब 9:30 बजे रुलदू सिंह मानसा को ढूंढते हुए कुछ हमलावर मानसा के कैंप में पहुंचे. वहां मौजूद किसानों से रुलदू सिंह मानसा के बारे में पूछा और झोपड़ियों में उनकी तलाश की गई. जब वे नहीं मिले तो उनके कैंप में ठहरे किसानों पर लाठी-डंडों से हमला कर दिया.

इस हमले में पंजाब के मानसा जिले के किसान गुरविंदर के सिर में गंभीर चोट आई है. देर रात पीजीआई रोहतक में गुरविंदर के सिर में 15 टांके तक लगाए गए. गुरविंदर की आंख, कान, हाथ और पैर पर भी चोट के गहरे घाव हैं. वहीं एक अन्य किसान के हाथ पर भी काफी चोट आई है. इस घटना की सूचना पुलिस के पास भी पहुंच चुकी है. लेकिन ना तो पुलिस ने घायल के बयान लिए हैं और ना ही इस घटना के विषय में कोई मामला दर्ज किया है.

घायल गुरविंदर ने बताया कि रात के समय रुलदू सिंह मानसा को ढूंढते हुए हमलावर हाथों में लाठी डंडे लेकर ट्रॉली में घुस आए थे. जिन्होंने उनके ऊपर हमला किया और फरार हो गए. हमलावर खालिस्तान मूवमेंट चला रहे पन्नू पर टिप्पणी से नाराज थे. दरअसल पंजाब किसान यूनियन के बड़े नेता रुलदू सिंह मानसा ने संयुक्त किसान मोर्चा की स्टेज से खालिस्तानी मूवमेंट चला रहे लोगों पर निर्दोष युवाओं को बहकाने और मरवाने के गंभीर आरोप लगाए थे.

गुरपतवंत पन्नू को लेकर भी काफी सख्त टिप्पणियां की गई थी. इस हमले को भी उसी से जोड़कर देखा जा रहा है. दबी जुबान में कहा यह भी जा रहा है कि किसान आंदोलन में मौजूद खालिस्तानी समर्थकों को रुलदू सिंह मानसा की टिप्पणी नागवार गुजरी और उन्हीं पर हमला करने के लिए रात को उनके कैंप में हमलावर पहुंचे थे. लेकिन रुलदू सिंह मानसा किसान आंदोलन स्थल से अपने पोते के साथ पंजाब वापस जा चुके थे. इसी खुंदस में उनके समर्थकों की जमकर पिटाई की गई है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज