Home /News /haryana /

21 करोड़ रुपए है इस भैंसे की कीमत, पशुधन मेले में रहा टॉप

21 करोड़ रुपए है इस भैंसे की कीमत, पशुधन मेले में रहा टॉप

सरताज

सरताज

'सरताज' की उम्र करीब चार साल है और वह हर रोज करीब 10 किलो दूध और दही का सेवन कराता है.

हरियाणा के झज्जर में लगे 36 वें पशुधन मेले में ‘सरताज’ की कीमत 21 करोड़ रुपए रखी गई है. मुर्राह नस्ल का यह भैंसा सोनीपत के सैनीपुरा गांव के रहने वाले विरेन्द्र सिंह का है. 'सरताज' ने मेले के आकर्षण रहे 'रूस्तम' को हराकर सभी भैसों में पहला स्थान हासिल किया है. जबकि पानीपत के रहने वाले नरेन्द्र की मुर्राह नस्ल की भैंस इस नस्ल के दुधारू पशुओं में सबसे आगे रही. मेले में 'सरताज' को देखने वालों की भारी भीड़ उमड़ रही है.

‘सरताज’ के मालिक विरेन्द्र ने बताया कि 'सरताज' की उम्र करीब चार साल है और वह हर रोज करीब 10 किलो दूध और दही का सेवन कराता है. विरेन्द्र ने मुर्राह नस्ल की बेहतर ब्रीड तैयार करने का काम साल 2007 से शुरू किया था. विरेन्द्र ने करनाल में लगे पशुधन प्रदर्शनी से मुर्राह नस्ल की बेहतर ब्रीड तैयार करने की सीख ली थी.

विरेन्द्र सिंह अब हर महीने सरताज का सीमन बेचकर लाखों रुपए कमा रहे हैं. विरेन्द्र का कहना है कि वैसे तो वो सरताज को बेचना नहीं चाहते हैं क्योंकि सरताज अनमोल है. लेकिन फिर भी अगर कोई 21 करोड़ रुपए देगा तो वे अपने ‘सरताज’ को उसे सौंप देंगे.

बता दे कि 36 वें पशुधन प्रदर्शनी मेले की शुरूआत 21 दिसम्बर को हुई थी. हरियाणा के कृषि एंव किसान कल्याण मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने हरियाणा मे पशुधन की उत्तम नस्ल और दुध उत्पादन को बढ़ावा देने के लिये दूसरी बार झजजर में मेले का आयोजन करवाया है.

मेले में झज्जर के जीवन सिंह की एचएफ नस्ल की गाय को पहला स्थान मिली, वहीं साहीवाल ब्रीड में करनाल के राम सिंह की गाय ब्रीउ को पहला स्थान मिला है. रोहतक के दलबीर सिंह का साहीवाल ब्रीड का बैल अपने नश्ल में चैम्पियन रनर अप रहा. मेले के समापन पर आई भारी भीड़ ने ‘जय जवान जय किसान’ के नारे लगाकर मेले की सफलता के लिए कृषि मंत्री का धन्यवाद किया है.

ये भी पढ़ें- 'त्रिवेणी' पौधे लगाने पर 500 और देसी गाय रखने वालों को 1100 रुपए देगी झाझड़िया खाप पंचायत

ये भी पढे़ं- फरीदाबाद: स्कूल जाने के लिए निकली दो नाबालिग छात्राओं से अपहरण के बाद रेप

Tags: Haryana news

अगली ख़बर