टिकरी बॉर्डर पर किसानों ने मनाई TMC की जीत की खुशी, बोले- ये हमारी जीत

किसानों ने कहा- बीजेपी को अपनी हार को देखते हुए करने चाहिए तीन कृषि कानून वापस.

किसानों ने कहा- बीजेपी को अपनी हार को देखते हुए करने चाहिए तीन कृषि कानून वापस.

Kisan Aandolan: किसानों का कहना था कि जन विरोधी फैसले लेने के कारण बीजेपी को कम सीटें मिल रही हैं.

  • Share this:
झज्जर. पश्चिमी बंगाल में विधानसभा चुनाव में ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) की पार्टी तृणमूल कांग्रेस की जीत पर टिकरी बॉर्डर में आंदोलन कर रहे किसानों ने खुशी मनाई. किसानों (Farmers) ने कहा कि यह किसानों की जीत है. बंगाल की जनता ने किसान विरोधी सरकार को हराया है. इस दौरान किसानों ने भाजपा और प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. किसान बोले कि बीजेपी को आइना दिखाना बहुत जरूरी था.

किसानों ने कहा कि बीजेपी को उसके किसान विरोधी फैसले लेने के कारण ही करारी हार का मुंह देखना पड़ा. प्रधानमंत्री मोदी की 50 रैलियां और जुमले भी काम नहीं आए. बंगाल चुनाव में बीजेपी के खिलाफ आंदोलनकारी किसान बंगाल गए थे. बीजेपी को अपनी हार को देखते हुए तीनों कृषि कानून तुरंत वापस करने चाहिए. अन्यथा जब तक कानून वापस नहीं होंगे, तब तक आंदोलन चलता रहेगा.

किसानों ने कहा कि इस आंदोलन को खत्म करने के लिए सरकार नए-नए कानून बनाने लग रही है. किसान नेताओं की सरकार के साथ 11 बार मीटिंग हो गई थी, मगर यह सरकार किसानों को कुचलने के लिए नए-नए हथकंडे अपना रही है. कोरोना को लेकर आए दिन कुछ ना कुछ झूठ बोल रही है. ऑक्सीजन व वैक्सीन पर्याप्त होने की अफवाह विदेश में फैलाकर सरकार लोगों को गुमराह कर रही है.

सरकार अपनी सभी नाकामयाबियों को छुपाने में लगी है. किसानों ने कहा कि हमने फसल के सीजन में भी हौसला नहीं छोड़ा है. यह सरकार खुद तो रैली करा रही है, कोई दूसरा करे तो उनको कारोना का डर दिखाया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज