लाइव टीवी

जींद: सरकारी अस्पताल में नवजात बच्चा बदलने का आरोप, परिजनों ने किया हंगामा

Vijender Kumar | News18 Haryana
Updated: December 12, 2019, 10:36 AM IST
जींद: सरकारी अस्पताल में नवजात बच्चा बदलने का आरोप, परिजनों ने किया हंगामा
अस्पताल के अंदर परिजनों ने किया हंगामा

परिजनों का कहना है की डिलीवरी (Delivery) के बाद उन्हें बताया गया था कि उसकी पत्नी (Wife) को लड़का हुआ है, लेकिन अंदर जाने पर उन्हें लड़की दे दी

  • Share this:
जींद. सिविल अस्पताल (Civil Hospital) में एक महिला की डिलीवरी (Delivery) के बाद परिजनों ने हंगामा कर दिया. परिजनों का आरोप था कि अस्पताल प्रशासन (Hospital Administration) ने बच्चा बदल दिया है और उन्हें लड़के की बजाय लड़की दी जा रही है. इस पर परिजनों ने परिसर में अस्पताल प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. मौके पर पहुंचे डिप्टी एमएस डॉ. राजेश भोला ने परिजनों से बातचीत की और उन्हें समझाया कि बच्चा बदलने वाली कोई बात नहीं हुई है. यदि ऐसी बात हुई है तो मामले में कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

बता दें कि जींद के रामराये गेट निवासी विकास की पत्नी ममता को डिलीवरी होनी थी. बुधवार सुबह वह डिलीवरी करवाने के लिए अपनी पत्नी को सिविल अस्पताल ले आया. दोपहर को ममता को दर्द शुरू हो गया. महिला चिकित्सक ने बताया कि डिलीवरी सामान्य रूप से नहीं हो सकती. इसलिए ऑपरेशन करना पड़ेगा.

इसके बाद ममता को ऑपरेशन थियेटर ले जाया गया और ऑपरेशन कर दिया गया. ऑपरेशन थियेटर से बाहर आए कर्मचारी ने परिजनों से बच्चे के कपड़े मांगे और लड़का होने की जानकारी दी. उसके बाद परिजन अंदर गए तो उन्हें बच्ची सौंप दी. इस पर परिजनों ने कहा कि उन्हें तो लड़का हुआ था, फिर लड़की क्यों दे रहे हो. इस पर महिला चिकित्सक ने कहा कि उन्हें लड़की ही हुई थी.

'डिलीवरी के बाद बताया लड़का हुआ है'

परिजनों का कहना है की डिलीवरी के बाद उन्हें बताया गया था कि उसकी पत्नी को लड़का हुआ है, लेकिन अंदर जाने पर उन्हें लड़की दे दी. जब फार्म देखा तो उस पर मेल लिखा हुआ था और बाद में काटकर फीमेल लिखा गया. इस पर उन्होंने जब एतराज किया तो बोले कि गलती से लिखा गया था. उन्होंने कहा कि लड़का और लड़की में उन्हें कोई दिक्कत नहीं है. इन दोनों का डीएनए टेस्ट करवाओ, यदि दोनों में से किसी का भी डीएनए उनसे मिलता है तो वे उसी को ले लेंगे.

अस्पताल प्रशासन ने कही ये बात

वहीं अस्पताल  प्रशासन का कहना है की सिविल अस्पताल में आज कुल 3 डिलीवरी हुई सबसे पहले डिलीवरी ममता की ही हुई थी. जो कि दोपहर 12 बजकर 55 मिनट पर हुई थी. उसके बाद दूसरी डिलीवरी 1 बजकर 21 मिनट पर हुई थी और उसके परिजनों को बच्चा दे दिया था. फार्म पर कटिंग वाली जो बात है. कई बार नाम या पता गलत लिखा जाता है, उसी को लेकर ही फार्म पर कटिंग हुई होगी. यदि फिर भी परिजन संतुष्ट नहीं है तो कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी.ये भी पढ़ें- IAS अशोक खेमका का 53वां तबादला, अब पुरातत्व और संग्रहालय विभाग भेजे गए

ये भी पढ़ें:- AJL प्लॉट आवंटन मामला: पूर्व सीएम हुड्डा ED की विशेष कोर्ट में हुए पेश

ये भी पढ़ें:- घर में घुसे चोर को पकड़ कर रस्सी से बांधा, लोगों ने पीटा तो मांगने लगा माफी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जींद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 12, 2019, 10:36 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर