VIDEO: ‘ज़ख्मी जूतों के डॉक्टर’ को 'नया अस्पताल' बना कर देंगे महिन्द्रा ग्रुप के चेयरमैन
Jind-Haryana News in Hindi

नरसीराम के प्रचार के इस तरीके से महिन्द्रा काफी प्रभावित हुए थे. उन्होंने नरसीराम की फोटो को ट्वीट करते हुए लिखा था कि इस व्यक्ति से मैनेजमेंट छात्रों को मार्केटिंग के गुर सीखने चाहिए.

  • Share this:
हरियाणा के जीन्द के पटियाला चौक पर फटे पुराने जूते-चप्पलों की मरम्मत करने वाले नरसीराम ने ‘जख्मी जूतों का अस्पताल’ नाम से एक बैनर टांग रखा है. इसमें उन्होंने खुद को डॉक्टर नरसीराम बताया है. बैनर में अस्पताल की तर्ज पर जानकारियां दी गई हैं. जैसे ओपीडी सुबह 9 से दोपहर 1 बजे, लंच टाइम दोपहर 1 से 2 बजे और शाम 2 से 6 बजे तक अस्पताल खुला रहेगा. बैनर पर आगे लिखा है 'हमारे यहां सभी प्रकार के जूते जर्मन तकनीक से ठीक किए जाते हैं'.

बैनर देखकर प्रभावित हुए थे आनंद महिंद्रा
महिन्द्रा कंपनी के चेयरमैन आनंद महिन्द्रा तक नरसीराम का बैनर कुछ दिन पहले तक पहुंचा था. नरसीराम के प्रचार के इस तरीके से महिन्द्रा काफी प्रभावित हुए थे. उन्होंने नरसीराम की फोटो को ट्वीट करते हुए लिखा था कि इस व्यक्ति से मैनेजमेंट छात्रों को मार्केटिंग के गुर सीखने चाहिए. इस व्यक्ति को आईआईएम में मार्केटिंग फैकल्टी में होना चाहिए.

महिंद्रा ने की थी आर्थिक मदद की पेशकश
महिंद्रा ने नरसीराम को आर्थिक मदद देने की पेशकश की थी. इसके बाद महिन्द्रा समूह की जीन्द टीम ने नरसीराम का पता लगाया था और उनसे मुलाकात की. नरसीराम के बारे में फिर से ट्वीट करते हुए महिन्द्रा ने लिखा ‘हरियाणा में हमारी टीम उनसे मिली और पूछा कि हम कैसे उनकी मदद कर सकते हैं.



नरसीराम के लिए तैयार होगी चलती-फिरती दुकान
साधारण और नम्र नरसीराम ने महिंद्रा समूह की जीन्द टीम द्वारा पैसे की पेशकश किए जाने के बाद भी पैसे लेने से इनकार कर दिया. हालांकि उन्होंने काम करने के लिए बेहतर जगह की जरूरत के बारे में जरूर बताया. महिन्द्रा ने आगे लिखा कि उन्होंने मुंबई की अपनी डिजाइन स्टूडियो टीम से एक चलती-फिरती दुकान डिजाइन करने को कहा, जहां उनकी जरूरत के हिसाब से उनके लिए नई चलती फिरती दुकान तैयार की जाएगी.

जख्मी जूतों के डॉक्टर ने किया महिंद्रा का धन्यवाद
नरसीराम इस बात से बेहद खुश है कि महिन्द्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिन्द्रा को उनके काम करने का तरीका पसंद आया है और वो उनके लिए एक चलती फिरती दुकान बनाने जा रहे है. उन्होंने कहा कि उन्हें यह बहुत अच्छा लगा है कि आनंद महिन्द्रा उनकी मदद कर रहे है. उन्होंने कहा कि आनंद महिंद्रा उनके लिए एक चलती-फिरती दुकान डिजाइन करवा रहे है, जिसके लिए वो उनका धन्यवाद करते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading