हरियाणा में पहले होते थे बहुत पहलवान, अब उसकी जगह बीड़ी-सिगरेट ने ली: अन्ना हजारे

अन्ना हजारे ने कहा है कि भ्रष्टाचार के खिलाफ मेरी लड़ाई थी और उस लड़ाई में अब तक 6 केंद्रीय मंत्रियों का पत्ता कट चुका है.

News18 Haryana
Updated: July 31, 2019, 9:49 AM IST
हरियाणा में पहले होते थे बहुत पहलवान, अब उसकी जगह बीड़ी-सिगरेट ने ली: अन्ना हजारे
हरियाणा को लेकर अन्ना हजार ने कही ये बात
News18 Haryana
Updated: July 31, 2019, 9:49 AM IST
जुलाना हल्के में भारत माता पुस्तकालय के उद्घाटन समारोह में पंहुचे समाज सेवी अन्ना हजारे का ग्रामीणों ने जोरदार स्वागत किया. इस दौरान अन्ना हजारे ने कहा कि जब तक आप त्याग नहीं करोगे तब तक कोई भी देश संपन्न हो सकता. किसी भी देश को विकास के पथ पर आगे बढ़ाना है तो सबसे पहला बदलाव गांव से करना होगा. गांव में बदलाव होगा तभी देश में बदलाव होगा.

अन्ना हजारे ने कहा कि जब कोई बीज अपना त्याग करता है, तभी तो अनाज पैदा होता है. इसलिए सबसे पहले मन में त्याग की भावना होनी चाहिए. 82 साल की उम्र में आज तक मेरे जीवन पर कोई दाग नहीं है, इसलिए तो गुंडों के खिलाफ लड़ रहा हूं. पहली लड़ाई में आरटीआई कानून लागू करवाया, दूसरी लड़ाई में लोकपाल बिल को संसद में मंजूरी दिलवाई.

हरियाणा में होती जा रही पहलवानों की कमी

अन्ना हजारे ने कहा कि जन लोकपाल बिल को संसद में लाने के लिए जो रामलीला मैदान से लड़ाई लड़ी गई, उसमें हरियाणा का विशेष योगदान रहा. लेकिन अब हरियाणा में पहलवानों की कमी होती जा रही है. हरियाणा में पहले बहुत पहलवान होते थे, लेकिन अब उसकी जगह बीड़ी, शराब और सिगरेट ने ले ली है.



82 साल की उम्र में ऐसे लेते हैं आनंद

अन्ना हजारे ने कहा कि लोग मुझसे पूछते हैं कि 82 साल की उम्र में भी आप इतना आनंद कैसे लेते हैं. तो अन्ना ने कहा कि मैं बर्गर नहीं खाता. लोग धन के पीछे इस तरीके से लगे हुए हैं कि उनकी जिंदगी का अमन चैन सब कुछ चला गया. अन्ना हजारे ने कहा कि समाज के लिए जेल में जाना हमारे लिए अलंकार है.
Loading...

6 केंद्रीय मंत्रियों का काटा पत्ता

अन्ना हजारे ने कहा है कि भ्रष्टाचार के खिलाफ मेरी लड़ाई थी और उस लड़ाई में अब तक 6 केंद्रीय मंत्रियों का पत्ता कट चुका है. 82 साल की उम्र में मैंने कोई दाग नहीं लगने दिया जिससे   आज भी बड़े-बड़े नेता मुझसे डरते हैं. अन्ना हजारे ने कहा कि मुझे सरकार की तरफ से पदम श्री और ना जाने कितने देशों से जितने भी अवार्ड मिले करोड़ों करोड़ों रूपयों के अवार्ड मिले मैंने उन सब का पैसा अपने पास नहीं रखा सबको ट्रस्ट में दे दिए.

ये भी पढ़ें:- IT के 10 अफसरों ने भव्य बिश्नोई से 89 घंटे में पूछे 146 सवाल 

ये भी पढ़ें:- 45 गाड़ियों को चोरी कर बेच चुके अपराधियों को पुलिस ने दबोचा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जींद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 31, 2019, 9:49 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...