जाति और धर्म की राजनीति के बीच खाप का ये अनूठा फैसला

News18 Haryana
Updated: July 3, 2019, 12:42 PM IST
जाति और धर्म की राजनीति के बीच खाप का ये अनूठा फैसला
बांगड़ की सर्वजातीय खेड़ा खाप ने लिया फैसला (प्रतिकात्मक तस्वीर)

भाईचारे को बढ़ाने के लिए बांगर की सर्वजातीय खेड़ा खाप ने नई पहल की है. खाप के लोग अब अपने नाम के पीछे गोत्र न लिखकर गांव का नाम लिखेंगे.

  • Share this:
हरियाणा के जींद जिले के गांव भौंसला में बांगड़ की सर्वजातीय खेड़ा खाप की बैठक हुई. इस बैठक में कई गांवों के हर वरग के लोग पहुंचे थे. बैठक में सभी लोगों के विचार सुनने के बाद फैसला लिया गया कि खाप गांव-गांव, घर-घर जाकर जात-पात के जहर को खत्म करेगी. खाप भाईचारा को बढ़ावा देने का काम करेगी, जिससे प्रदेश की जो पहले पहचान थी वो वापस लौटे. इस अभियान में पंचायत, समाजसेवी, सामाजिक संस्थाओं का सहारा भी खाप लेगी.

भाईचारे को बढ़ाने के लिए बांगर की सर्वजातीय खेड़ा खाप ने नई पहल की है. खाप के लोग अब अपने नाम के पीछे गोत्र न लिखकर गांव का नाम लिखेंगे. गांवों में बैठकें कर लोगों को इस मुहिम से जोड़ा जाएगा. इसके बाद इस अभियान को पूरे प्रदेश में बढ़ाया जाएगा.

नाम के पीछे जात की जगह लिखेंगे गांव का नाम

खाप प्रवक्ता उदयवीर ने बताया कि हर कोई अपने नाम के पीछे अपना गोत्र लिखता है. इससे भी प्रतीत होता है कि अपनी जात को बढ़ावा दिया जा रहा है. एक-दूसरे के देखा-देखी वाहनों पर भी जात का नाम लिखा जाता है. गांवों में जाकर युवाओं, ग्रामीणों को प्रेरित करेंगे कि अपने नाम के पीछे गांव का नाम लिखे. गांव का नाम सबसे बड़ा होता है.

हर गांव जाएंगे खाप प्रतिनिधि

अब हर गांव में खाप के प्रतिनिधि जाएंगे. इसको लेकर टीम भी बनाई गई है. हर गांव में एक कमेटी बनाई जाएगी जिसमें हर वर्ग के लोगों को शामिल किया जाएगा. युवाओं को भी इसके साथ जोड़ा जाएगा. आपस में जात-पात के जहर से जो ताना-बाना समाज का टूट रहा है उसको दोबारा से कायम किया जाएगा.

ये भी पढ़ें-
Loading...

लोकसभा चुनाव में मिली हार के बाद मुंह दिखाने लायक नहीं रही कांग्रेस: विज

इनेलो को लगा एक और झटका, सतीश नांदल BJP में हुए शामिल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जींद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 1, 2019, 1:19 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...