संकट में खट्टर सरकार! भूपेंद्र सिंह हुड्डा बोले- अविश्वास प्रस्ताव लेकर आएगी कांग्रेस

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा.

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा.

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा (Bhupendra Singh Hooda) ने राज्‍यपाल को विधानसभा का आपातकालीन सत्र (Emergency Session) बुलाने के लिए पत्र लिखा है.

  • Share this:

जींद. हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा (Bhupendra Singh Hooda) ने प्रदेश सरकार पर जनता व विधायकों का भरोसा खोने का आरोप लगाते हुए सोमवार को कहा कि उन्होंने विधानसभा का आपातकालीन सत्र (Emergency Session) बुलाने के लिये राज्यपाल को पत्र लिखा है और सरकार के खिलाफ कांग्रेस अविश्वास प्रस्ताव लेकर आएगी. आपको बता दें कि राज्‍य में मनोहर लाल खट्टर के नेतृत्‍व में बनी भाजपा की सरकार में जेजेपी भी शामिल है. वहीं, जेजेपी के कुछ विधायकों ने किसान आंदोलन को समर्थन दे रखा है.

भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने किया ये दावा

भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने दावा किया कि प्रदेश में राजनीतिक अस्थिरता और सरकार के प्रति अविश्वास का माहौल है. उन्होंने कहा कि इन परिस्थितियों में माननीय राज्यपाल को अपनी संवैधानिक जिम्मेदारियों का निर्वहन करते हुए विशेष सत्र बुलाना चाहिए.

‘भारत बंद’ को लेकर कही ये बात
कांग्रेस नेता ने किसान संगठनों द्वारा आठ दिसंबर को बुलाए गए ‘भारत बंद’ का समर्थन करते हुए अपील की, 'भारत बंद' किसान आंदोलन की तरह शांतिपूर्ण और अनुशासित होना चाहिए. पूरा देश और तमाम संगठन आज किसानों के साथ हैं. किसानों की मांगे पूरी तरह जायज हैं और हम किसानों के साथ मजबूती से खड़े हैं. उन्होंने मांग की कि सरकार को बिना देरी किसानों की तमाम मांगे माननी चाहिए.

इसके अलावा पूर्व मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि प्रदेश के किसान जब अपने हक के लिये दिल्ली बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे हैं तब आज भी कई जजपाई और निर्दलीय विधायक किसानों के साथ खड़े होने की बजाए कुर्सी से चिपके हुए हैं. उन्होंने कहा कि कई निर्दलीय और जजपा विधायक किसानों के समर्थन की बात तो कर रहे हैं, लेकिन सरकार को भी अपना समर्थन जारी रखे हुए हैं.उन्होंने कहा कि ये अविश्वास प्रस्ताव ऐसी दोहरी नीति वाले विधायकों की पोल खोलने का भी काम करेगा, क्योंकि अब विधायकों को सरकार और किसान में से एक को चुनना होगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज