लाइव टीवी

जींद : एंबुलेंस चालकों का किया जाएगा ब्रेथ एनालाइजर टेस्ट

Sunil Jindal | News18 Haryana
Updated: November 11, 2019, 4:51 PM IST
जींद : एंबुलेंस चालकों का किया जाएगा ब्रेथ एनालाइजर टेस्ट
जींद - एंबुलेंस चालक के नशे में मिलने पर होगी सख्त कार्रवाई

स्वास्थ्य विभाग ने राज्य के सभी सिविल सर्जनों (Civil Surgeons) को निर्देश दिए हैं कि रात्रि के समय जब एंबुलेंस चालक किसी रोगी को लेकर पीजीआई रोहतक (PGI Rohtak) अथवा अन्यत्र स्थान पर जाता है तो उसका चलने से पूर्व ब्रेथ एनालाइजर टेस्ट (Breathalyzer test) किया जाए.

  • Share this:
जींद. एंबुलेंस के बढ़ते सड़क हादसों पर अंकुश लगाने की दिशा में स्वास्थ्य विभाग (Haryana Health Department) ने सख्त रुख अख्तियार कर लिया है. दरअसल एंबुलेंस के ड्राइवरों (Ambulance Driver) के नशे में होने की शिकायत स्वास्थ्य विभाग को अक्सर मिला करती है. अब इसके लिए स्वास्थ्य विभाग ने राज्य के सभी सिविल सर्जनों (Civil Surgeon) को निर्देश दिए हैं कि रात्रि के समय जो एंबुलेंस चालक किसी रोगी को लेकर पीजीआई रोहतक (PGI Rohtak) अथवा अन्यत्र स्थान पर जाता है तो उसका चलने से पूर्व ब्रेथ एनालाइजर टेस्ट (Breathalyzer test) किया जाए. ऐसा इसलिए ताकि यह प्रमाणित हो सके कि एंबुलेंस चालक ने नशा किया है या नहीं.

3 लोगों की मौत हुई थी

जींद जिला के उप सिविल सर्जन एवं एंबुलेंस सेवाओं के नोडल अधिकारी डॉक्टर राजेश भोला ने बताया कि गत दिनों हिसार में एक सड़क दुर्घटना घटी जिसमें तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गई थी. इस दुर्घटना को लेकर आशंका व्यक्त की गई थी कि एंबुलेंस चालक कहीं नशे में तो नहीं था. इस दुर्घटना में एंबुलेंस चालक की भी मौत हो गई थी.

एंबुलेंस चालक के नशे में होने के शक पर भी किया जाएगा ब्रेथ एनालाइजर टेस्ट 


दोषी पाए जाने पर होगी सख्त कार्रवाई

इस पर संज्ञान लेते हुए स्वास्थ्य विभाग ने सभी सिविल सर्जनों को आदेश दिए हैं कि रात्रि में एंबुलेंस सेवाओं में तैनात चालकों का ब्रेथ एनालाइजर टेस्ट किया जाए. उप सिविल सर्जन ने यह भी बताया कि रात्रि के अलावा यदि किसी अधिकारी को किसी चालक पर शक होता है अथवा उस चालक को लेकर किसी तरह की शिकायत मिलती है तो भी यह टेस्ट किया जाएगा. उप सिविल सर्जन ने कहा कि एंबुलेंस चालक के दोषी पाए जाने पर सख्त कार्रवाई अमल में लायी जाएगी. उन्होंने कहा कि इससे पूर्व ब्रेथ एनालाइजर टेस्ट यातायात पुलिस द्वारा की जाती रही है.

ये भी पढ़ें - शीघ्र ही मंत्रिमंडल का विस्तार किया जाएगा : दुष्यंत चौटालाये भी पढ़ें - भावांतर भरपाई योजना : इन सब्जियों का पंजीकरण अवश्य कराएं किसान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जींद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 11, 2019, 4:51 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर