डॉक्टरों की कमी से जूझ रहा जींद का सामान्य अस्पताल, मरीजों को हो रही परेशानी

भाजपा सरकार की शुरूआत में जब स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज अस्पतालों के दौरे करते थे तो अस्पताल में व्यवस्था कुछ सुधरी थी. लेकिन अब अस्पताल में पीने का पानी नहीं होने से मरीजों को बाहर से पानी की बोतले लेकर आनी पड़ रही हैं.

Vijender Kumar | News18 Haryana
Updated: June 20, 2019, 12:45 PM IST
डॉक्टरों की कमी से जूझ रहा जींद का सामान्य अस्पताल, मरीजों को हो रही परेशानी
जींद नागरिक अस्पताल
Vijender Kumar
Vijender Kumar | News18 Haryana
Updated: June 20, 2019, 12:45 PM IST
मरीजों का उपचार करने वाला जींद का सामान्य अस्पताल डॉक्टरों के पदों के रिक्त होने के चलते खुद बीमार नजर आ रहा है. यहां पर पीने के पानी से लेकर मरीजों को बैठने तक के लिए परेशानी हो रही है. हर रोज 1300 से अधिक ओपीडी हो रही है. डॉक्टरों के रिक्त पदों को भरने की निरंतर मांग करते आए है लेकिन अब तक रिक्त है.

भाजपा सरकार की शुरूआत में जब स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज अस्पतालों के दौरे करते थे तो अस्पताल में व्यवस्था कुछ सुधरी थी. लेकिन अब अस्पताल में पीने का पानी नहीं होने से मरीजों को बाहर से पानी की बोतले लेकर आनी पड़ रही हैं. इतना ही नहीं सफाई व्यवस्था का भी अस्पताल में बुरा हाल है.

मरीजों को बैठने की भी व्यवस्था नहीं

अस्पताल में मरीजों को बैठने की भी व्यवस्था नहीं है. डिलिवरी के लिए आने वाली महिलाओं को अस्पताल में बने रैंपों पर बैठना पड़ रहा है. सिविल सर्जन सुशीला ने कहा कि जो समस्याएं आ रही है वो डॉक्टरों के पदों की रिक्त होने से हो रही है. मरीजों की संख्या बढ़ रही है लेकिन पद रिक्त होने के चलते परेशानी हो रही है. जो दवा लेने को लेकर लंबी लाइन लगती है वो इसलिए है क्योंकि जो यहां पर नियुक्ति हुई वो इतने ट्रेंड नहीं है. वो कुछ दिनों तक ट्रेंड होने के बाद यह समस्या दूर हो जाएगी. पीने के पानी की व्यवस्था को लेकर निर्देश दे दिए गए है.

ये भी पढ़ें-आफत की बारिश: फतेहाबाद में मकान की छत गिरने से 7 लोग दबे, एक बच्ची की मौत

ये भी पढ़ें-फरीदाबाद: झुग्गियों में घुसी बेकाबू कार, नाना-नाती को कुचला

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
First published: June 20, 2019, 12:42 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...