किसानों के हक की आवाज उठाने पहुंचे कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ाईं धज्जियां
Jind-Haryana News in Hindi

किसानों के हक की आवाज उठाने पहुंचे कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ाईं धज्जियां
मंडी में पहुंचे रणदीप सुरजेवाला ने सोशल डिस्टेंसिंग का नहीं किया अनुपालन

लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग को दरकिनार कर अपने समर्थकों के साथ मंडी में पहुंचे सुरजेवाला ने किसानों को संबोधित करते हुए अपना मास्क (Mask) भी चेहरे से हटा रखा था. तस्वीरों में उनके कुछ समर्थक भी उनका अनुपालन करते नजर आए.

  • Share this:
जींद. कांग्रेस (Congress) के वरिष्ठ नेता और मीडिया प्रभारी रणदीप सुरजेवाला (Randeep Surjewala) ने बुधवार को आरोप लगाया कि हरियाणा में गेहूं की खरीद सिर्फ कागजों पर हो रही है और प्रदेश में 90 प्रतिशत मंडियां बंद है. लेकिन इस दौरान कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सोशल डिस्टेंसिंग (Social distancing) की धज्जियां उड़ाते नजर आए. दरअसल सुरजेवाला बुधवार को उचाना की पुरानी मंडी में गेहूं की खरीद का जायजा लेने पहुंचे थे.



लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग को दरकिनार कर अपने समर्थकों के साथ मंडी में पहुंचे सुरजेवाला ने किसानों को संबोधित करते हुए अपना मास्क (Mask) भी चेहरे से हटा रखा था. तस्वीरों में उनके कुछ समर्थक भी उनका अनुपालन करते नजर आए. इस दौरान सरकार पर आरोप लगाते हुए सुरजेवाला ने कहा कि तीन महीने पहले ही उन्होंने कहा था कि सरकार गेहूं की खरीद नहीं करने वाली है. इसका आभास तब हो गया था जब बजट पेश किया था और खाद्य निगम का बजट 75 हजार करोड़ रुपया कम कर दिया था. उन्होंने आरोप लगाया कि हरियाणा, पंजाब की मंडियों को बंद करने का षड़ंयत्र रचा जा रहा है ताकि उन्हें समर्थन मूल्य पर खरीद नहीं करनी पड़े. सरकार को पता है कि बिना आढ़ती के खरीद नहीं हो सकती है. सरकार आढ़ती और किसान के गठजोड़ को तोड़ना चाहती है.
पहले भाजपा ने जात-पात के नाम पर प्रदेश को बांटा, अब...
सुरजेवाला ने आरोप लगाया कि पहले भाजपा ने जात-पात के नाम पर प्रदेश को बांटा लेकिन इस बार वो आढ़ती, किसान, मजदूर के एकजुट होने से सफल नहीं हो पा रहे है. उन्होंने कहा कि हरियाणा की जजपा-भाजपा सरकार लगातार तीसरे दिन गेहूं खरीद मामले में नाकाम साबित हुई है. सरकार पर नीति और नीयत में खोट होने का आरोप लगाते हुए उन्होंने सुझाव दिया कि खरीद की पुरानी पद्धति को बहाल किया जाए. उन्होंने यहां कई अनाज मंडियों का दौरा किया. उन्होंने संवाददाताओं से बातचीत करते हुए कहा कि प्रदेश की 99 प्रतिशत मंडियों में आज किसान व मजदूर बेहाल है.सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस पार्टी व्यापारी, किसान व मजदूर के साथ खड़ी है.



उन्होंने उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला और मुख्यमंत्री मनोहल लाल खट्टर से कहा कि वे प्रदेश की मंडियों का का दौरा कर देख लें कि किसान, मजदूर व व्यापारी कितना दुखी हैं. इस बीच पुरानी पद्धति से गेहूं की खरीद की मांग को लेकर आढ़तियों का धरना लगातार दूसरे दिन भी जारी रहा. आढ़ती एसोसिएशन के जिला प्रधान बलराज श्योकंद अनिश्चितकालीन अनशन पर हैं.

अभय चौटाला ने सोशल डिस्टेंसिंग के चलते रद्द किया दौरा
खाप के प्रधान दलबीर खेड़ी मंसानिया ने कहा कि आढ़तियों की मांग जायज है. उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार आढ़ती व किसान का रिश्ता तोड़ना चाहती है, जो गलत है. इस बीच हरियाणा प्रदेश व्यापार मंडल के प्रान्तीय अध्यक्ष व हरियाणा कान्फैड के पूर्व चेयरमैन बजरंग गर्ग ने आरोप लगाया कि सरकार की गलत नीतियों के कारण प्रदेश के किसानों व आढ़तियों को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है. उधर इनेलो नेता और ऐलनाबाद से विधायक अभय चौटाला ने सामाजिक दूरी का नियम टूटने के चलते अनाज मंडियों का अपना दौरा रद्द कर दिया.

चौटाला ने कहा कि सरकार को एक सप्ताह का समय दिया जाता है. यदि गेहूं खरीद की व्यवस्थाएं नहीं सुधरीं तो किसानों के साथ मिलकर आगे के बारे में फैसला लेंगे. उन्होंने पत्रकारों से बातचीत करते हुए आरोप लगााया कि प्रदेश सरकार ने धान में हुए घोटाले को दबा दिया और अब ठीक उसी प्रकार गेहूं खरीद में भी घोटाला करने का प्रयास किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें-Lockdown: यूपी में फंसे मजदूरों को उनकी राज्य सरकार बुलाना चाहे तो हर संभव मदद को तैयार हैं- सीएम योगी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज