Home /News /haryana /

जींद में दबंगों ने गोत्र के चलते कई जाट परिवारों का किया सामाजिक बहिष्कार, हुक्का पानी भी बंद 

जींद में दबंगों ने गोत्र के चलते कई जाट परिवारों का किया सामाजिक बहिष्कार, हुक्का पानी भी बंद 

पीड़ित परिवार ने बताया कि अब उन्हें जान- माल का डर है. इसलिए जिला अधिकारियों से मामले में कार्रवाई की गुहार लगाईं है.  (सांकेतिक फोटो)

पीड़ित परिवार ने बताया कि अब उन्हें जान- माल का डर है. इसलिए जिला अधिकारियों से मामले में कार्रवाई की गुहार लगाईं है. (सांकेतिक फोटो)

Jind News: पीड़ित परिवार का कहना है कि हमने चहल गोत्र में शादी नहीं की है. हमने कोई गुनाह भी नहीं किया है. इसके बावजूद भी हमें अब खेतो में जाने से रोका जा रहा है और भैंसो को तालाब में भी नहीं जाने दिया जा रहा है. गांव में सामाजिक बहिष्कार कर दिया गया है और हुक्का पानी बंद है. गांव में कोई भी सहयोग नहीं कर रहा है. हमारी- बहन बेटियों की इज्जत लूटने की धमकी तक दी जा रही है. और घर में शारब की बोतलें तक फेंकी जा रही हैं.

अधिक पढ़ें ...

जींद. हरियाणा के जींद में गोत्र विवाद (Gotra Dispute In Jind) को लेकर एक बड़ी खबर सामने आई है. कहा जा रहा है कि एक जाति के द्वारा गोत्र को लेकर कुछ परिवारों का सामाजिक बहिष्कार (Social Exclusion) किया गया है. मामला जुलाना कस्बे के कमाच खेड़ा का है, जहां जाट जाति के चहल गोत्र के लोगों ने जाटों के खोखर गोत्र (Khokhar Gotra) के लोगों का सामाजिक बहिष्कार कर दिया है. इस मामले के बाद खोखर गोत्र के लोगों ने जींद जिला प्रसाशन से मामले में दखल देने की अपील की है.

खोखर गोत्र के लोगों का कहना है कि कमाच खेड़ा और देवरड़ दोनों गांव पास- पास लगते हैं, जहां चहल गोत्र के ज्यादा लोग रहते हैं. खोखर गोत्र के पांच से सात घर हैं और वो पुराने वक्त में दूसरे गांव से आकर यहां बसे थे. चहल गोत्र के लोगों ने बताया कि कमाच खेड़ा गांव में जाट जाति में खोखर गोत्र के लोगों ने नांदल गोत्र की एक लड़की जिसकी दादी चहल गोत्र से है उसकी शादी करके गांव में लाये हैं, जसिके बाद सारा विवाद हुआ. चहल गोत्र के लोगों का कहना है कि जिस लड़की को ब्याह कर गांव में लाये हैं उसकी दादी पास के ही गांव देवरड़ से है, जोकि चहल गोत्र के लोगों का गांव है. इसलिए लड़की उनकी पोती हुई और शादी बर्दाश्त नहीं करेंगे.

घर में शारब की बोतलें तक फेंकी जा रही हैं
वहीं, पीड़ित परिवार का कहना है कि हमने चहल गोत्र में शादी नहीं की है. हमने कोई गुनाह भी नहीं किया है. इसके बावजूद भी हमें अब खेतो में जाने से रोका जा रहा है और भैंसो को तालाब में भी नहीं जाने दिया जा रहा है. गांव में सामाजिक बहिष्कार कर दिया गया है और हुक्का पानी बंद है. गांव में कोई भी सहयोग नहीं कर रहा है. हमारी- बहन बेटियों की इज्जत लूटने की धमकी तक दी जा रही है. और घर में शारब की बोतलें तक फेंकी जा रही हैं.

विवाद को निपटाया जाएगा
पीड़ित परिवार ने बताया कि अब उन्हें जान- माल का डर है. इसलिए जिला अधिकारियों से मामले में कार्रवाई की गुहार लगाईं है. खोखर जाति के लोगों ने बताया कि उनके बच्चों को भी स्कूल नहीं जाने दिया जा रहा है. वहीं, इस मामले में कंडेला खाप के पूर्व प्रधान राम कंडेला ने बताया कि किसी तरह का सामाजिक बहिष्कार नहीं है और जरुरत पड़ी तो मामले दखल दिया जाएगा. उन्होंने कहा विवाद को निपटाया जाएगा.

Tags: Haryana news, Haryana police, Jind news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर