नाबालिग लड़कियों को बंधक बना डेरा संचालक ने ढाए जुल्म
Jind-Haryana News in Hindi

नाबालिग लड़कियों को बंधक बना डेरा संचालक ने ढाए जुल्म
अपनी शिकायत लेकर थाने पहुंची पीड़ित युवतियां

पीड़ित लड़कियां किसी तरह से उनके चंगुल से छूटकर अपने मां-बाप के पास पहुंची और घटना के बारे में बताया. जिस पर मां-बाप उनको लेकर महिला थाने पहुंचे और शिकायत देकर कार्रवाई की मांग की.

  • Share this:
जींद की दो नाबालिग लड़कियों ने सिल्लाखेड़ी गांव (सफीदों) में बने एक डेरा के संचालक पर छेड़ख़ानी करने, मारपीट, बंधक बनाने और जबरदस्ती संबंध बनाने का आरोप लगाया है. दोनों नाबालिग लड़कियों ने इसकी शिकायत महिला थाने में दी है.

शिकायत में बताया गया है कि इस बार वह दोनों दसवीं कक्षा के एक पेपर में फेल हो गई थी. उनके मामा मंगत फौजी ने उनके मां-बाप से कहा कि इन दोनों लड़कियों पर भूत-प्रेत का साया है. मेरा जानकार सिल्लाखेड़ी गांव में एक डेरा संचालक है जो सब-कुछ ठीक कर देगा. वो उसकी बातों में आ गए और उनको 25 मई को डेरे में ले गए.

वहां पर डेरे का संचालक और कई अन्य लोग भी थे, डेरे का संचालक सतीश उनको एक कमरे में ले गया और बंधक बना लिया. इस दौरान उसने छेड़छाड़ की, जब उन्होंने विरोध किया तो मारपीट की और जबरदस्ती संबंध बनाने की कोशिश की. जब उन्होंने घर जाने की बात कही तो घर जाने नहीं दिया और न ही किसी से मिलने दिया. उनको तीन दिन बंधक बनाए रखा.



पीड़ित लड़कियां किसी तरह से उनके चंगुल से छूटकर अपने मां-बाप के पास पहुंची और घटना के बारे में बताया. जिस पर मां-बाप उनको लेकर महिला थाने पहुंचे और शिकायत देकर कार्रवाई की मांग की.
लड़कियों की मां ने बताया कि उनके दूर के रिश्ते में भाई हैं उनके ही कहने पर वो लड़कियों को वहां पर ले गई थी, जिसके बाद बाबा ने उन पर जुल्म ढाए. वो बाबा के पैर भी पकड़ती रही लेकिन बाबा ने एक ना सुनी और अब उनको पैसे का लालच दिया जा रहा है और जान से मारने तक कि धमकी मिल रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading