Home /News /haryana /

गुरनाम सिंह चढूनी बोले- हरियाणा उपचुनाव में BJP प्रत्याशी को वोट नहीं देने की करेंगे अपील

गुरनाम सिंह चढूनी बोले- हरियाणा उपचुनाव में BJP प्रत्याशी को वोट नहीं देने की करेंगे अपील

 उन्होंने कहा कि डीएपी खाद की कमी होने लगी है, जिससे किसान परेशान हैं. (फाइल फोटो)

उन्होंने कहा कि डीएपी खाद की कमी होने लगी है, जिससे किसान परेशान हैं. (फाइल फोटो)

उन्होंने कहा, ‘‘हमने पहले न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर बाजरे की खरीद की मांग की थी, लेकिन सरकार ने बाजरे को भावांतर योजना में शामिल किया. आज किसानों को बाजरे की एमएसपी नहीं मिल रही है.''

    जींद. हरियाणा में भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) के अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी (Gurnam Singh Chaduni) ने शनिवार को कहा कि वह मतदाताओं से अपील करेंगे कि वे राज्य की ऐलनाबाद विधानसभा सीट (Ellenabad assembly seat) पर होने जा रहे उपचुनाव में भाजपा को वोट नहीं दें. चढूनी ने पालवां गांव में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि वह वहां के मतदाताओं से अपील करेंगे कि वे किसी भी पार्टी को वोट दें, लेकिन भाजपा, जजपा प्रत्याक्षी (JJP candidate) के पक्ष में मतदान नहीं करें.

    उन्होंने कहा, ‘‘हमने पहले न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर बाजरे की खरीद की मांग की थी, लेकिन सरकार ने बाजरे को भावांतर योजना में शामिल किया. आज किसानों को बाजरे की एमएसपी नहीं मिल रही है. किसानों को एमएसपी से 200 से 300 रुपये प्रति क्विंटल कम कीमत मिल रही है.’’ चढ़ूनी ने कहा कि जब तक केंद्र सरकार किसानों की मांग को नहीं मानती, आंदोलन जारी रहेगा. उन्होंने कहा कि डीएपी खाद की कमी होने लगी है, जिससे किसान परेशान हैं.

    2 नवंबर को वोटों की काउंटिंग होगी
    बता दें कि हरियाणा की ऐलनाबाद विधानसभा सीट पर 30 अक्टूबर को उपचुनाव होगा. चुनाव आयोग (election Commission) ने उप चुनाव की तारीख का ऐलान पिछले महीने ही कर दया था. 30 अक्टूबर को हिमाचल की 1 लोकसभा और 3 विधानसभा के लिए उप-चुनाव होगा. वहीं हरियाणा (Haryana) की ऐलनाबाद विधानसभा सीट पर भी उप चुनाव होगा. 8 अक्टूबर को नॉमिनेशन, 11 अक्टूबर को स्क्रूटनी, 13 अक्टूबर को नाम वापिस और 30 अक्टूबर को चुनाव होगा. 2 नवंबर को वोटों की काउंटिंग होगी.

    ऐलनाबाद विधानसभा सीट से इस्तीफा दिया था
    दरअसल, इनेलो के प्रधान महासचिव अभय सिंह चौटाला ने तीन कृषि कानूनों के विरोध में ऐलनाबाद विधानसभा सीट से इस्तीफा दिया था, जिसके बाद से यह सीट खाली चल रही है. अभय चौटाला ने जनवरी माह के अंतिम सप्ताह में विधानसभा की सदस्यता छोड़ी थी. नियम अनुसार छह माह के भीतर उपचुनाव कराया जाना अनिवार्य है, लेकिन तब कोरोना की दूसरी लहर ने उपचुनाव में अडंगा डाल दिया था.

    Tags: BJP, Haryana news, Jind news

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर