Home /News /haryana /

Farmer Protest: किसान आंदोलन के समर्थन में आई खापें, कल करेंगी दिल्ली कूच

Farmer Protest: किसान आंदोलन के समर्थन में आई खापें, कल करेंगी दिल्ली कूच

किसानों का प्रदर्शन pe

किसानों का प्रदर्शन pe

Farmer Protest: चहल खाप (Chahal Khap) ने कहा कि कल रोहतक (Rohtak) में 30 खापें किसानों के समर्थन में आई थीं. एक-दो दिन में हरियाणा की सभी खापें इस आंदोलन में उतरेंगी.

    जींद. किसानों के बाद अब खापें भी दिल्ली कूच की तैयारी में हैं. हरियाणा के जींद जिले में खापें किसान आंदोलन (Farmers Agitation) के समर्थन में आ गई हैं. आज जींद में चहल खाप ने बैठक कर कहा कि सारे साज्जो सामान के साथ हम कल दिल्ली (Delhi) कूच करेंगे. उन्होंने कहा कि जब तक दिल्ली में किसानों का आंदोलन रहेगा, वे भी दिल्ली में डटे रहेंगे. साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि हम दिल्ली के नजदीक हैं. किसानो को जो भी जरूरत होगी, हम उनकी मदद करेंगे.

    चहल खाप ने कहा कि कल रोहतक में 30 खापें किसानों के समर्थन में आई थी. एक-दो दिन में हरियाणा की सभी खापें इस आंदोलन में उतरेंगी. उन्होंने कहा कि खापों का लक्ष्य- दो दिन के अंदर दो लाख से ज्यादा लोगों को दिल्ली ले जाने का है.

    फल-सब्जी मंडी ने भी किया किसानों के समर्थन का ऐलान
    वहीं हरियाणा फल एवं सब्जी मंडी एसोसिएशन ने दिल्ली में जारी किसान आंदोलन (Farmers Agitation) को समर्थन देने का ऐलान किया है. रविवार को फतेहाबाद के टोहाना में एक आपातकालीन प्रेस कॉन्फ्रेंस (Press Conference) बुलाकर हरियाणा सब्जी मंडी एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष राजेंद्र ठकराल ने किसान के आंदोलन को एसोसिएशन की ओर से समर्थन का ऐलान करते हुए कहा कि हरियाणा के सब्जी मंडी व्यापारी भी लगातार सरकार से किसानों की तरह ही अपनी मांगों को मनवाने का प्रयास कर रहे थे, लेकिन सरकार ने सब्जी मंडी व्यापारियों की कोई बात नहीं सुनी.

    113 सब्जी मंडियों के व्यापारी करेंगे दिल्ली कूच
    उन्होंने कहा कि जिस तरह से किसानों पर सरकार ने लाठियां बरसाई, वाटर कैनन का इस्तेमाल किया, उसकी हम एसोसिएशन की तरफ से कड़ी निंदा करते हैं. प्रदेशाध्यक्ष राजेंद्र ठकराल ने कहा कि हरियाणा का सब्जी मंडी व्यापारी भी किसानों के लिए तन-मन और धन से समर्थन में उतरेगा और प्रदेश की सभी 113 सब्जी मंडी के व्यापारी अपनी गाड़ियों के जरिए दिल्ली कूच करेंगे.

    Tags: Farmers Agitation, Farmers Protest

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर