अपना शहर चुनें

States

किसानों पर ट्वीट के बाद खाप पंचायतों की Kangana Ranaut को खुली चेतावनी- हिम्मत हो तो हरियाणा आकर दिखाएं

खाप पंचायतों ने कंगना रनौत को चेतावनी दी है. (File)
खाप पंचायतों ने कंगना रनौत को चेतावनी दी है. (File)

किसान आंदोलन (Farmer Protest) को लेकर किए गए ट्वीट (Tweet) के बाद बॉलीवुडअभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) हरियाणा की खाप पंचायतों ने खुली चुनौती दे दी है.

  • Share this:
जींद. किसान आंदोलन (Farmer Protest) को लेकर किए गए ट्वीट (Tweet) के बाद बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) की मुश्किलें खत्म होने का नाम नहीं ले रही है. अपने ट्वीट के लिए उन्हें काफी विरोध का सामना करना पड़ा रहा है. अब हरियाणा की खाप पंचायतों (Khap Panchayat) ने कंगना को खुली चेतावनी दी है और कहा है कि अगर उनमें हिम्मत है तो वो हरियाणा आकर दिखाएं. अखिल भारतीय सर्वजातीय पुनिया खाप के राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं खाप नेता जितेंद्र छातर ने कहा कि कंगना में हिम्मत है तो आएं हरियाणा, उनको अपनी औकात का पता चल जाएगा.

खाप नेता जितेंद्र छातर का कहना है कि पूरे देश की खापें कंगना रनौत के शर्मनाक बयान की कड़े शब्दों में निंदा करती है और उनको यह चेतावनी देती है कि यह बयान देने के बाद उनमें अगर हिम्मत है तो हरियाणा व आसपास के राज्यों पश्चिमी उतर प्रदेश, पंजाब, राजस्थान में घुस कर दिखाए. उनको अपनी औकात का पता चल जाएगा.

खाप नेता ने किया कटाक्ष
खाप नेता जितेंद्र छातर ने उल्टे कंगना रनौत पर ही कटाक्ष करते हुए कहा कि 100-100 रुपये में बूढ़ी मां नहीं बल्कि नाचने वाली आ जाती हैं. खाप नेता ने यह भी कहा कि कंगना रनौत के खिलाफ जींद और अन्य जगह पर मुकदमें भी दर्ज करवाये जाएंगे भविष्य में उनकी जो फ़िल्म आएगी उसका विरोध भी किया जाएगा.
ट्विटर अकाउंट सस्पेंड करने याचिका


कंगना रनौत  के ट्विटर अकाउंट को सस्पेंड करने के लिए बॉम्बे हाईकोर्ट में एक याचिका दायर की गई है. याचिकाकर्ता ने पीटिशन में कहा कि कंगना के ट्विटर पर वेरिफाइड अकाउंट को ब्लॉक किया जाए क्योंकि कंगना सोशल मीडिया पर नफरत फैलाने का काम कर रही हैं. 'बार एंड बेंच' नाम के वेरिफाइड ट्विटर अकाउंट ने इस बात की जानकारी देते हुए ट्वीट किया.


'बार एंड बेंच' ने ट्वीट में लिखा- "कंगना रनौत के ट्विटर अकाउंट, 'कंगना टीम' को निलंबित करने के लिए बॉम्बे हाई कोर्ट में एक याचिका दायर की गई है. याचिका में ये कहा गया है कि कंगना अपने अकाउंट से देश में लगातार नफरत फैलाती हैं, द्वेष फैलाती हैं और अपने ट्वीट से देश को बांटने का काम कर रही हैं." कंगना को एक लीगल नोटिस भी भेजा गया है जिसमें कंगना से किसान आंदोलन में एक वृद्ध महिला के अपमान करने पर उनसे माफी मांगने को कहा गया है. कंगना ने इस ट्वीट को रीट्वीट करते हुए लिखा- "मैं हमेशा अखंड भारत की बात करती हूं, टुकड़े-टुकड़े गैंग से लड़ाई करती हूं और मुझ पर ये आरोप लग रहा है कि मैं देश को बांटने का काम कर रही हूं. वाह! क्या बात है, वैसे ट्विटर ही मेरे लिए एकमात्र प्लेटफॉर्म नहीं है जहां मैं अपनी बात रख सकती हूं. एक चुटकी में हजारों कैमरे मेरे स्टेटमेंट को रिकॉर्ड करने आ जाएंगे."
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज