जींद में रिश्वत लेते हवलदार काबू, केस से बाहर निकालने के नाम पर मांग रहा था 10 हजार
Jind-Haryana News in Hindi

जींद में रिश्वत लेते हवलदार काबू, केस से बाहर निकालने के नाम पर मांग रहा था 10 हजार
प्रतिकात्मक तस्वीर

हवलदार 15 हजार रुपये और देने के लिए दबाव बनाता रहा. पैसे नहीं देने पर वह पुलिस की गाड़ी लेकर घर तक पहुंच गया.

  • Share this:
सात मार्च को 12वीं का अंग्रेजी का पेपर देकर जा रहे बूढ़ाखेड़ा व बेरीखेड़ा गांव के विद्यार्थियों के बीच किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया. इसमें बेरीखेड़ा गांव के युवकों को कुछ चोटें आई. पिल्लूखेड़ा पुलिस ने इस मामले में बूढ़ाखेड़ा गांव के नीरज, सचिन, सोनू, भरत व चार अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया था. नीरज, सचिन व सोनू को तो परिजनों ने थाने में पेश कर दिया, जबकि भारत व चार अन्य पेश होने बाकी थे.

वहीं झगड़े के समय जो बाइक नीरज व उसके साथी लिए हुए थी, उसे भी पुलिस ने कब्जे में ले लिया था. शिकायतकर्ता सुरजीत सिंह का आरोप है कि मामले का जांच अधिकारी हवलदार जसबीर भारत व अन्य चार युवकों को केस से बाहर निकालने व कब्जे में ली बाइक को छोड़ने के लिए 20 हजार रुपये मांग रहा था.

नीरज और उसके साथियों ने परिजनों को बताए बगैर पांच हजार रुपये हवलदार को दे दिए. लेकिन इसके बाद भी हवलदार 15 हजार रुपये और देने के लिए दबाव बनाता रहा. पैसे नहीं देने पर वह पुलिस की गाड़ी लेकर घर तक पहुंच गया. बाद में वह 10 हजार रुपये में मामले को निपटाने के लिए तैयार हो गया. सुरजीत सिंह ने इसकी शिकायत विजिलेंस टीम को दी.



इंस्पेक्टर बलबीर सिंह के नेतृत्व में विजिलेंस टीम शिकायतकर्ता के साथ पिल्लूखेड़ा थाना पहुंची. जहां पहले से तय सौदे के अनुसार शिकायतकर्ता ने हवलदार जसबीर को दो-दो हजार के पांच नोट दे दिए और इसी दौरान विजिलेंस टीम ने हवलदार को रंगे हाथों काबू कर लिया.



ये भी पढ़ें:-

PHOTOS: 40 घंटों से 60 फीट गहरे बोरवेल में फंसा बच्चा, सेना ने 4 बिस्किट और जूस पिलाया

VIDEO: यमुनानगर में सड़क हादसे का दिल दहला देने वाला CCTV फुटेज
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading