एक करोड़ की लूट का मामला: युवकों ने देनदारी से बचने को रची थी झूठी कहानी

News18 Haryana
Updated: September 1, 2019, 11:02 PM IST
एक करोड़ की लूट का मामला: युवकों ने देनदारी से बचने को रची थी झूठी कहानी
गांव बिरौली के निकट कार सवार युवकों ने उन पर गोलीबारी की और एक करोड़ रुपये की राशि लूट ली और नए बस अड्डे की तरफ फरार हो गए. (Demo Pic)

हरियाणा (Haryan) के जींद (Jind) में गांव बिरौली के निकट शनिवार रात दो युवकों से एक करोड़ रुपये के लूट (obbery of one crore) की घटना पुलिस जांच (police investigation) में फर्जी (Fake) निकली.

  • Share this:
हरियाणा (Haryan) के जींद (Jind) में गांव बिरौली के निकट शनिवार रात दो युवकों से एक करोड़ रुपये के लूट (obbery of one crore) की घटना पुलिस जांच (police investigation) में फर्जी (Fake) निकली. पुलिस के अनुसार, लूट की शिकायत करने वाले दोनों युवकों ने पूछताछ में सच्चाई स्वीकार कर ली. हालांकि पुलिस ने रविवार सुबह घटना के संबंध में अज्ञात लोगों के खिलाफ लूट और शस्त्र अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया था.

डीएसपी धर्मबीर सिंह ने बताया कि लाखों रुपये की देनदारी से बचने के लिए दोनों युवकों ने एक करोड़ रुपये की लूट होने का दावा किया था. उन्होंने बताया कि हालांकि इस संबंध में अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया था. गहनता से पूछताछ में दोनों युवकों ने स्वीकार किया कि उनके साथ कोई लूट नहीं हुई थी.

पुलिस ने बताया कि गांव कड़ौदा, झज्जर निवासी संदीप ने बीती रात पुलिस नियंत्रण कक्ष को सूचना दी थी कि वह अपने दोस्त अजय खत्री के साथ गाड़ी में सवार होकर जींद की तरफ आ रहा था. पुलिस के अनुसार, संदीप ने बताया था कि अजय के पास एक करोड़ रुपये की राशि थी, जो गांव दनौदा निवासी राममेहर को देनी थी. गांव बिरौली के निकट कार सवार युवकों ने उन पर गोलीबारी की और एक करोड़ रुपये की राशि लूट ली और नए बस अड्डे की तरफ फरार हो गए.

पुलिस के अनुसार, सूचना के बाद डीएसपी धर्मबीर पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे. दोनों युवकों ने शराब पी हुई थी. मध्यरात्रि तक मामले की छानबीन होती रही. पुलिस ने अजय की शिकायत पर अज्ञात लोगों के खिलाफ लूट और शस्त्र अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया.

पुलिस ने बताया कि अजय का बादली में सीमेंट और रोड़ी का प्लांट है, इसके अलावा झज्जर में होटल भी है. अजय ने गुरुग्राम में फ्लैट भी बनाए हुए हैं. उसकी काफी राशि फ्लैटों में फंस गई. गांव दनौदा कलां निवासी राममेहर का अजय पर बकाया था. राममेहर ने अजय से एक करोड़ रुपये की मांग की थी. वास्तव में अजय के पास देने के लिए राशि थी ही नहीं. अजय ने लूट का यह दावा देनदारी से बचने के लिए अपने साथी संदीप के साथ मिलकर किया था. संदीप के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं.

ये भी पढ़ें-

शादी के 50 दिन बाद ही नवविवाहिता की मौत, परिजनों ने पति पर लगे ये आरोप

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जींद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 1, 2019, 11:02 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...