Home /News /haryana /

troubles increased for bjp mla who misbehaved with journalist in jind hrrm

जींद: पत्रकार से बदसलूकी करने वाले BJP विधायक की बढ़ी मुसीबतें, खापों-किसान संगठनों ने दिया अल्टीमेटम

विधायक डॉ. कृष्ण मिड्ढा को माफी मांग कर मामले को निपटाने के लिए एक सप्ताह का अल्टीमेटम दिया.

विधायक डॉ. कृष्ण मिड्ढा को माफी मांग कर मामले को निपटाने के लिए एक सप्ताह का अल्टीमेटम दिया.

लघु सचिवालय के बाहर धरना देते हुए इन प्रतिनिधियों ने चेतावनी भरे शब्दों में कहा कि जनप्रतिनिधि को जनता का सेवक होने के नाते हमेशा समाधान का रास्ता इख्तियार करना चाहिए, ना कि समस्या खड़ी कर विवाद बनाने का काम.

जींद. निजी न्यूज चैनल के पत्रकार को सार्वजनिक तौर पर धक्के मारकर और नकली करार देने के मामले में जींद से भाजपा विधायक डॉ. कृष्ण मिड्ढा की मुसीबतें बढ़ती दिखाई दे रही हैं. इस मामले में खापों, किसान, सामाजिक संगठनों के अलावा इनेलो, आम आदमी पार्टी और कांग्रेस से जुड़े सैंकड़ों प्रतिनिधियों ने लामबद्ध होकर प्रदर्शन करते हुए विधायक डॉ. कृष्ण मिड्ढा को माफी मांग कर मामले को निपटाने के लिए एक सप्ताह का अल्टीमेटम दिया. मामला ना निपटने पर इन प्रतिनिधियों ने विधायक के आवास के बाहर धरना देने तक की चेतावनी दे डाली.

लघु सचिवालय के बाहर धरना देते हुए इन प्रतिनिधियों ने चेतावनी भरे शब्दों में कहा कि जनप्रतिनिधि को जनता का सेवक होने के नाते हमेशा समाधान का रास्ता इख्तियार करना चाहिए, ना कि समस्या खड़ी कर विवाद बनाने का काम. इन प्रतिनिधियों ने पत्रकार के साथ पिछले कई दिनों से चली आ रही विधायक की तकरार के मामले में कड़े तेवर दिखाये.

धरने के पश्चात तमाम प्रतिनिधि प्रदर्शन करते हुए लघुसचिवालय पहुंचे, जहां नगराधीश के मार्फत  मुख्यमंत्री हरियाणा  को ज्ञापन भेजा. ज्ञापन में इन प्रतिनिधियों ने कहा कि जींद के विधायक कृष्ण मिड्ढा लोकतंत्र के चौथे स्तंभ मीडिया को दबाने की कुचेष्टा कर रहे हैं. पहले तो खुद पत्रकार को धक्के मारे और बाद में सार्वजनिक तौर पर नकली बताया. विधायक का नशा यहीं नहीं उतरा और उन्होंने अपने प्रभाव का दुरुपयोग करते हुए पत्रकार को दो करोड़ रुपए की मानहानि का नोटिस ही थमा दिया.

प्रतिनिधियों ने कहा कि पीड़ित पत्रकार को इंसाफ दिलाया जाए. जींद के विधायक ने जो बेइज्जती की है और जो नकली बताया है उस मामले में मुकदमा दर्ज किया जाए. ज्ञापन के माध्यम से यह मांग भी की गई कि जींद के विधायक कृष्ण मिड्ढा व उनके निजी सहायक की कथित संपत्तियों के मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) या अन्य किसी स्वतंत्र एजेंसी से जांच करवाई जाए. इसके साथ साथ महामहिम राज्यपाल से यह मांग भी की गई कि अनुसूचित जाति समाज से संबंध रखने वाले इस पत्रकार को सत्ता पक्ष के विधायक कृष्ण मिड्डा से जान का खतरा है. ऐसे में इनको जल्द से जल्द पुलिस सुरक्षा उपलब्ध करवाई जाए.

वहीं उन्होंने कहा कि इस मामले में यदि पत्रकार को जान-माल का नुकसान होता हैं, तो इसके लिए जींद प्रशासन जिम्मेदार होगा. इन प्रतिनिधियों ने कहा कि लोकतंत्र के चौथे स्तंभ की आवाज को दबने नहीं दिया जाएगा, यह विरोध तब तक जारी रहेगा, जब तक विधायक एक सप्ताह के दौरान खुद माफी मांगकर मामले को नहीं निपटाता.

Tags: Haryana news, Haryana police

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर