लाइव टीवी

विधायिका में महिलाओं को 50 फीसदी आरक्षण की व्यवस्था हो : डॉ.संतोष दहिया

Virendra Bisht | News18 Haryana
Updated: March 6, 2019, 8:48 PM IST
विधायिका में महिलाओं को 50 फीसदी आरक्षण की व्यवस्था हो : डॉ.संतोष दहिया
डॉ.संतोष दहिया-राष्ट्रीय अध्यक्ष-सर्व-जातीय सर्व-खाप महिला विंग

सर्वजातीय सर्वखाप महिला महापंचायत' ने गांव माघोमाजरी में लगाई 'नारी-चौपाल'

  • Share this:
बुधवार को 'सर्वजातीय सर्वखाप महिला महापंचायत' ने कैथल के गांव माघोमाजरी  में 'नारी-चौपाल' लगाई.  'अब नारी की बारी' के नाम इस अभियान के तहत कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में डॉ. संतोष दहिया ने शिरकत की. नारी-चौपाल में महिलाओं ने खुलकर अपनी बातें रखीं. उनके अनुसार इस लोकसभा चुनाव में बेटियों की शिक्षा और सुरक्षा तो मुद्दा हैं ही साथ ही आधी आबादी को उनका राजनीतिक अधिकार भी मिलना चाहिए. केवल कोरे वादे करने वाले नहीं, नारियों के पक्ष में ईमानदारी से माहौल बनाने वाली सरकार चाहिए.

चौपाल की अध्यक्षता करते हुए गांव माघोमाजरा की पूर्व सरपंच कमला देवी और पूर्व सरपंच शांति देवी ने कहा कि हमें दया का पात्र नहीं बनाया जाए. हमें पुरुषों के बराबर हर तरह से हक चाहिए. शिक्षा व रोजगार दोनों में समान मौके चाहिएं. गांव की बेटियों को अब भी यह नहीं पता है कि उनकी सुरक्षा के लिए किस तरह के कानून हमारे देश में बन चुके हैं. इसका गांव की बोली-भाषा में प्रचार प्रसार करने की आवश्यकता है.

मुख्य अतिथि के रूप में पहुंची डॉ. संतोष दहिया ने कहा कि बिना बेटी के जग में कुछ नहीं है जबकि कुछ लोग बेटी को जन्म लेने से पहले की मार देते हैं. इससे बड़ा कोई अपराध नहीं हो सकता है. उन्होंने कहा कि आज हम सब लोगों को मिलकर बेटी को बचाना होगा. इतना ही नहीं उसे पढ़ाना भी होगा. यदि बेटी शिक्षित नहीं होगी तो समाज का उद्धार नहीं सकता है. उन्होंने कहा कि हमें बेटियों की सुरक्षा की पूरी गारंटी लेने वाली सरकार चाहिए. ऐसी सरकार बने, जिसकी हर योजना पारदर्शी और प्रभावशाली हो. भेदभाव की गुंजाइश न हो.

इस अवसर पर मांग की गई कि आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों की बेटियों को उच्च शिक्षा हासिल करने में सरकार मदद दे. महिलाओं को शिक्षा और सुरक्षा की गारंटी देने वाली सरकार बने. बेटियों की सुरक्षा को लेकर कहा न जाए बल्कि काम किया जाए। महिलाओं को भी हर क्षेत्र में आरक्षण मिलना चाहिए. सरकार ऐसी हो जो विधायिका में महिलाओं को 50 फीसदी आरक्षण की व्यवस्था दे. बेटियों को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने के लिए सरकार योजना चलाए. महिलाओं के साथ अपराध करने वालों को अविलंब कठोरतम सजा दी जाए. कार्यस्थल पर लड़कियों को पुरुषों के बराबर सुविधा व माहौल उपलब्ध करवाया जाए.

यह भी पढ़ें - कैथल में छेड़छाड़ से परेशान नेशनल फुटबॉल खिलाड़ी ने फांसी लगाकर दी जान



यह भी पढ़ें - सैनिक सम्मान तिरंगा यात्रा में उमड़े हजारों लोग, 'देश के शहीद-अमर रहें' के नारों से गूंजा हिसार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कैथल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 6, 2019, 8:48 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर