Assembly Banner 2021

हरियाणा: देवरों ने विधवा भाभी की हत्या कर शव तालाब में फेंका, 70 दिन बाद मिली लाश

देवरों ने भाभी को उतारा मौत के घाट

देवरों ने भाभी को उतारा मौत के घाट

Murder in Kaithal: शादी से इनकार करने पर देवरों ने महिला के साथ आपराधिक वारदात को दिया अंजाम. आरोपियों ने विधवा की लाश को सीमेंट के पिलर से बांधकर तालाब में फेंक दिया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 9, 2021, 10:01 AM IST
  • Share this:
कैथल. हरियाणा के कैथल जिले में हत्या (Murder) का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है. जहां भाई की विधवा पर देवर का दिल आ गया. भाभी ने शादी से इन्कार कर दिया. इससे नाराज देवर ने अपने भाई और पड़ोसी के साथ मिलकर भाभी को मौत के घाट उतार दिया. पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर लिया है. एक साल पहले महिला के पति की मौत हो गई थी.

बता दें कि 9 जनवरी को गांव कसान में विवाहित महिला की गुमशुदगी के 70 दिन बाद गांव बढ़सिकरी खुर्द के तालाब में सीमेंट पिलर के साथ चेन से बंधे महिला का सड़ा-गला शव मिला. इसी के बाद थाना राजौंद व कलायत में दर्ज दो अलग-अलग मामलों की गुत्थी को सुलझाते हुए राजौंद पुलिस द्वारा मृतका के दो सगे देवरों सहित 3 आरोपी गिरफ्तार कर लिए गए. हत्या की वजह गत वर्ष महिला के पति की मौत उपरांत 3 बच्चों की मां द्वारा अपने देवर से शादी करने से मना करने की रंजिश को बताया गया है.

एसपी लोकेंद्र सिंह ने बताया कि 20 मार्च को एक महिला का शव गांव बडसिकरी खुर्द के तालाब से बरामद किया गया था. जिसका शव एक सिमेंट पिल्लर के साथ लोहे की बेल व चुन्नी आदी के साथ बांधा गया था. जो बुरी तरह गलसड़ चुका था. जिसके बारे में गांव के सरपंच के बयान पर थाना कलायत में अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ भाद सं. की धारा 302,201 के तहत मामला दर्ज किया गया. महिला द्वारा पहने कपड़ो, कड़े आदी के आधार पर मृतका का सूट सिलने वाली एक रिश्तेदार और मृतका के माता-पिता द्वारा मिले शव की शिनाख्त महिमा (आयु करीब 30 वर्ष) निवासी कसान के रुप में की गई. जिसकी गुमशुदगी के बारे में इससे पहले महिला के पिता बसाऊ राम निवासी गलाड़ी जिला संगरूर ने शिकायत दर्ज कराइ थी. उनकी शिकायत पर दिनांक 13 जनवरी को थाना राजौंद में अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ भादसं. की धारा 346 के तहत मामला दर्ज किया गया था.



शिकायत के अनुसार गांव गलाड़ी जिला संगरूर (पंजाब) निवासी महिमा नामक युवती की शादी गांव कसान निवासी जयभगवान के साथ हुई थी. जिसके पति जयभगवान की वर्ष 2020 में मृत्यु हो गई थी. महिमा उसके बाद 9 जनवरी 2021 की सुबह आठ बजे घर से गायब हो गई थी. पुलिस ने मामले की उलझी हुई गुत्थी को सुलझाते हुए मृतका के 27 वर्षीय देवर कंवरभान उर्फ कौल व 30 वर्षीय देवर विक्रम उर्फ विक्की पुत्र रोशन तथा आरोपियों के पडौस में रहने वाला उनका करीब 22 वर्षीय साथी रिंकू पुत्र सुल्तान को गिरफ्तार कर लिया है. ये सभी कसान गाँव के निवासी हैं. मृतक महिला के 3 बच्चे बताए गये है, जिनमें लगभग 10 वर्षीय बेटा तथा 8 वर्षीय व 4 वर्षीय दो बेटियां शामिल है.
एसपी ने बताया कि आरोपियों से पूछताछ के दौरान खुलासा हुआ कि आरोपी कंवरभान उर्फ कौल अपने बडे भाई जयभगवान की मौत के बाद अपनी भाभी महिमा के साथ शादी करना चाहता था. परंतु महिला ने शादी करने से मना कर दिया था, जिस कारण वह उसके चरित्र पर भी संदेह करते हुए उससे रंजिश रखने लगा. जिसके चलते अपने भाई विक्रम व पड़ोसी रिंकू के साथ मिलकर उसने अपनी भाभी की हत्या करने की योजना बनाई. जिसके तहत वारदात से करीब एक सप्ताह पूर्व कंवरभान व रिंकू द्वारा एक दुकान से सिमेंट पिल्लर खरीद कर पहले से तय स्थान बडसिकरी खुर्द में तालाब के पास स्थित शमशान घाट के नजदीक डाल दिया गया. 8 जनवरी को रात के समय महिला के दोनों देवरों ने महिला की अपने मकान में ही गला दबा कर हत्या कर दी गई तथा शव को तीनों आरोपी कपड़े में गठरी बांधकर शमशान घाट पर ले गए.

एक आरोपी अपनी मोटरसाइकिल पर आगे-आगे रैकी करता रहा. तीनों आरोपियों द्वारा शव को पिल्लर से बांधकर तालाब में डाल दिया गया. पूछताछ के दौरान आरोपियों के कब्जे से वारदात में प्रयुक्त की गई दोनों मोटरसाइकिल बरामद कर ली गई है. पूछताछ के दौरान आरोपियों ने कबूला है कि उन्होंने महिला की हत्या के बाद उसके गले के सोने का लॉकेट, पाजेब व चांदी की चैन तथा हथफूल आपस में बांटकर अपने ठिकानों पर छिपा रखे है, जिनकी बरामदगी के लिए तीनों आरोपियों का 8 अप्रैल को न्यायालय से 2 दिन का पुलिस रिमांड हासिल कर लिया गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज