OMG: मरीज की आंत से निकाला गया 6.3 फुट लंबा जिंदा कीड़ा

सर्जन डॉ. डीएस पंवार ने बताया कि यह कीड़ा अधपके सुअर का मांस खाने एवं बिना धोये सब्जियां खाने से बनता है.

Virender Puri | News18 Haryana
Updated: July 3, 2019, 10:36 AM IST
OMG: मरीज की आंत से निकाला गया 6.3 फुट लंबा जिंदा कीड़ा
आंत से निकाला गया कीड़ा
Virender Puri
Virender Puri | News18 Haryana
Updated: July 3, 2019, 10:36 AM IST
कैथल शहर के जयपुर अस्पताल के सर्जन डॉक्‍टर देवेंद्र सिंह पंवार ने जींद निवासी एक मरीज के पेट का सफल ऑपरेशन करते हुए उसकी आंतों से एक 6 फुट 3 इंच का जिंदा कीड़ा निकाला है. इस कीड़े का वैज्ञानिक नाम टिनिया सोलियम है. चिकित्सक का दावा है कि उत्तर भारत में किसी मरीज के पेट से निकाले जाने वाला यह सबसे बड़ा कीड़ा है. इससे पहले इतना बड़ा किसी मरीज के पेट में होने बारे उसने न तो सुना और न ही देखा है.

एक रिपोर्ट अनुसार विश्व के मेडिकल इतिहास में एक मरीज के पेट से 82 फुट तक लंबा कीड़ा निकाला हुआ है. डॉ पंवार ने बताया कि मरीज को पिछले 15 दिनों से बुखार और पेट दर्द था और उसने जींद में चिकित्सकों को भी अल्ट्रासाउंट रिपोर्ट एवं एक्सरे दिखाए. वहां चिकित्सकों ने इलाज करने के बाद उसे पीजीआई रोहतक रेफर कर दिया, जिसके बाद मरीज बहुत पेट दर्द होने के चलते जयपुर अस्पताल में रात्रि 9.30 बजे दाखिल किया गया.

सुअर का अध पका मांस खाने से बनता है ये कीड़ा

मरीज की आंते फट गई थीं. इसके बाद रात्रि 11.30 बजे ऑपरेशन किया गया. ऑपरेशन के दौरान पाया कि मरीज की छोटी आंत फटी हुई थी और उससे 6 फुट 3 इंच का कीड़ा निकाला गया. सर्जन डॉ. डीएस पंवार ने बताया कि यह कीड़ा अधपके सुअर का मांस खाने एवं बिना धोये सब्जियां खाने से बनता है और यह कीड़ा 25 साल तक व्यक्ति के पेट में रहता है. इसके बाद व्यक्ति को परेशानी आनी शुरू हो जाती है. इसके बाद यह कीड़ा दिमाग में मिर्गी के दौरे भी कर सकता है. डा. पंवार ने बताया कि यह बहुत ही दुर्लभ केस था.

यह भी पढ़ें- 

लोकसभा चुनाव में मिली हार के बाद मुंह दिखाने लायक नहीं रही कांग्रेस: विज

इनेलो को लगा एक और झटका, सतीश नांदल BJP में हुए शामिल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कैथल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 3, 2019, 10:01 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...