Home /News /haryana /

हरियाणा: विजिलेंस ने कैथल के SDM अमरेंद्र सिंह को किया गिरफ्तार, ये है वजह

हरियाणा: विजिलेंस ने कैथल के SDM अमरेंद्र सिंह को किया गिरफ्तार, ये है वजह

अमरेंदर सिंह 2019 बैच के एचसीएस अफसर हैं, जो अब कैथल एसडीएम के पद पर कार्यरत हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

अमरेंदर सिंह 2019 बैच के एचसीएस अफसर हैं, जो अब कैथल एसडीएम के पद पर कार्यरत हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Haryana News: मामला ओवरलोड वाहनों की सड़कों पर बेरोकटोक चलने की छूट देने से संबंधित है. इसके एवज में वे ट्रांसपोर्टर से रिश्वत लेते थे. हरियाणा विजिलेंस ब्यूरो के प्रवक्ता ने कहा कि इस मामले से सम्बंधित दिसंबर 2021 में गिरफ्तार किए गए तीनों आरोपियों (गुरप्रीत, जसपाल, व डीवी.आर डीटीओ अम्बाला करणवीर शेरगिल) ने घोटाले में आरोपी अधिकारी द्वारा अपनाए गए तौर-तरीकों का खुलासा किया था.

अधिक पढ़ें ...

 कैथल. अम्बाला की विजिलेंस टीम (Ambala Vigilance Team) ने कैथल के एसडीएम अमरेंद्र सिंह को गिरफ्तार (SDM Amarendra Singh Arrested) कर लिया है. विजिलेंस की टीम ने गिरफ्तार करने से पहले दफ्तर में उनसे लंबी पूछताछ की. एसडीएम अमरेंद्र सिंह मंगलवार को ही डाक के काम से कैथल दफ्तर पहुंचे थे. वहीं, एक हफ्ता पहले ही उनकी ज्वाइनिंग कैथल (Kaithal) में हुई थी.

जानकारी के मुताबिक, मामला ओवरलोड वाहनों की सड़कों पर बेरोकटोक चलने की छूट देने से संबंधित है. इसके एवज में वे ट्रांसपोर्टर से रिश्वत लेते थे. इस मामले में गिरफ्तार आरटीए की टीम में तैनात एएसआई जसपाल सिंह ने स्टेट विजिलेंस ब्यूरो की पूछताछ में पंचकूला व अम्बाला के डीटीओ रहे अमरेंद्र सिंह व ट्रांसपोर्ट इंस्पेक्टर अजय सैनी तक 6.50 लाख रुपए पहुंचने का खुलासा किया था. अमरेंदर सिंह 2019 बैच के एचसीएस अफसर हैं, जो अब कैथल एसडीएम के पद पर कार्यरत हैं.

तीन आरोपियों को गिरफ्तार भी किया था
जानकारी के मुताबिक, दिसंबर 2021 में अंबाला विजिलेंस स्टेशन में एफआईआर दर्ज की थी. इसके बाद उसी दिन तीन आरोपी (गुरप्रीत, जसपाल, व डीवी.आर डीटीओ अम्बाला करणवीर शेरगिल) को गिरफ्तार किया गया था. पूछताछ के बाद, उन्होंने इस बात का खुलासा किया कि वे कैसे ट्रांसपोर्टरों से रिश्वत लेते थे और उन्हें सुचारू आवाजाही के लिए मासिक आधार पर वाहन के लिए स्टिकर जारी करते थे. हरियाणा विजिलेंस के प्रवक्ता ने कहा कि अधिक जांच से मामले की तह तक जाने में मदद मिलेगी.

अपनाए गए तौर-तरीकों का खुलासा किया था
वहीं, हरियाणा विजिलेंस ब्यूरो के प्रवक्ता ने कहा कि इस मामले से सम्बंधित दिसंबर 2021 में गिरफ्तार किए गए तीन आरोपियों ने घोटाले में आरोपी अधिकारी द्वारा अपनाए गए तौर-तरीकों का खुलासा किया था. जांच के दौरान, यह दिखाने के लिए पर्याप्त सबूत सामने आए हैं कि आरोपित एचसीएस अधिकारी ने कार्यभार संभालने के बाद अधीनस्थ अधिकारियों और एजेंटों का एक नेटवर्क स्थापित किया था और उनके अधिकार क्षेत्र में ओवरलोड वाहनों को चलने की अनुमति देने के लिए उनके माध्यम से अवैध संतुष्टि प्राप्त की थी, जिसके बाद मंगलवार को गिरफ्तारी की गई.

Tags: Arrest, Haryana news, Haryana police, Kaithal news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर