अपना शहर चुनें

States

कैथल: नाबालिग से रेप के दोषी को कोर्ट ने सुनाई 20 साल की सजा

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले से पिछले 4 माह से गुमशुदा लड़की का पता नहीं लगाने पर तखतपुर थाना प्रभारी को हाई कोर्ट ने तलब किया है.
छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले से पिछले 4 माह से गुमशुदा लड़की का पता नहीं लगाने पर तखतपुर थाना प्रभारी को हाई कोर्ट ने तलब किया है.

मामला अक्टूबर 2018 का है, जिसमें कुरुक्षेत्र जिला के नरेंद्र ने 10 वीं की छात्रा से रेप किया था.

  • Share this:
नाबालिग से रेप करने के दोषी को कोर्ट ने 20 साल जेल की सजा सुनाई है. कैथल के अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायधीश हुकम सिंह ने ये सजा सुनाई है. ये मामला अक्टूबर 2018 का है, जिसमें कुरुक्षेत्र जिला के नरेंद्र ने 10 वीं की छात्रा से रेप किया था. कोर्ट ने दोषी को 31 हजार रुपए जुर्माना भी लगाया है और जुर्माना न भरने पर दो महीने अतिरिक्त जेल में रहना होगा.

बता दें कि 10 अक्टूबर 2018 को तहसील ढांड के तहत आने वाले एक गांव के व्यक्ति ने सिविल लाईन थाना में केस दर्ज करवाया था. आरोप था कि उसकी 16 वर्षीय बेटी 10वीं कक्षा में पढ़ती है. दो अक्टूबर 2018 को उसकी बेटी अपनी चाची के साथ दवाई लेने सिविल अस्पताल कैथल आई थी. जहां से कुरुक्षेत्र जिला के निवासी नरेंद्र उर्फ निंदा ने शादी का झांसा देकर अपहरण कर लिया. सिविल लाइन थाना पुलिस ने नरेंद्र के खिलाफ लडक़ी भगाने का केस दर्ज कर लिया.

12 अक्टूबर को छात्रा बस स्टैंड कैथल से बरामद कर ली. पीड़िता के बयान व डॉक्टरी रिपोर्ट के आधार पर केस में रेप व जान से मारने की धारा तथा पॉक्सो एक्ट जोड़ा गया. अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायधीश हुकम सिंह की कोर्ट में केस चला. दिसंबर 2018 में आरोपी पर चार्ज लगा. सोमवार तीन जून को दोषी को 20 साल कठोर कारावास व 31 हजार रुपए जुर्माना की सजा सुनाई.



पीड़िता को 10 दिन रखा अमृतसर 
पीड़िता ने अपने बयान में बताया कि आरोपी उसे शादी का झांसा देकर ले गया था. वह उसे अंबाला रोड पर लेकर गया, जहां उसके साथ एक साइट पर रेप किया. आरोपी नरेंद्र ने धमकी दी कि इस बारे में किसी को बताया तो वह उसके भाई को मार देगा. आरोपी उसे अमृसर ले गया, जहां उसे 10 दिन रखा. इसी दौरान पंजाब पुलिस को पीड़िता व आरोपी के बारे में पता लगा तो पुलिस ने पीड़िता के परिजनों को सूचित किया. परिजनों से बातचीत करके पंजाब पुलिस ने उन्हें बस से कैथल भेजा. पीड़िता को परिवार ने बस स्टैंड से बरामद कर लिया, लेकिन आरोपी परिवारिक सदस्यों को देख फरार हो गया था, जिसे पुलिस ने बाद में गिरफ्तार किया था.

ये भी पढ़ें-

रोहतक में पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़, 4 गिरफ्तार

दुकान में शराब पीने से मना किया तो लाठी से पीट-पीट कर मार डाला

फरीदाबाद में चलती कार बनी 'आग का गोला', बाल-बाल बचा परिवार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज