अपना शहर चुनें

States

Kisan Aandolan: किसानों को 24 खाप पंचायतों ने दिया समर्थन, कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन

Kisan Aandolan: कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के आंदोलन को खापों ने दिया समर्थन.
Kisan Aandolan: कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के आंदोलन को खापों ने दिया समर्थन.

Kisan Aandolan: खापों ने कहा कि सरकार के ऊपर किसानों के साथ अत्याचार करने का आरोप लगाया. दमनकारी नीति के खिलाफ हो रहे आंदोलन को पूर्ण समर्थन देने का किया ऐलान.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 4, 2020, 11:20 AM IST
  • Share this:
कैथल. हरियाणा के कैथल जिले की हनुमान वाटिका में 24 खाप पंचायतें दिल्ली बॉर्डर पर कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों (Farmers Protest) के समर्थन में आई.  खाप पंचायतों ने किसानों को तन मन धन से पूरा सहयोग करने का वायदा किया और कहा जब तक सरकार (Government) तीनों कृषि कानूनों बिल को वापस नहीं लेती सभी खाप पंचायतें किसानों के हक में खड़ी हैं.

खाप पंचायतों के प्रतिनिधियों ने कहा कि अगर 7 दिसंबर से पहले सरकार ने कोई किसानों के हक में फैसला नहीं दिया तो इसके बाद हम लोकल स्तर पर सभी विधायकों, सांसदों व मंत्रियों का विरोध करेंगे और घेराव करेंगे. अगर जरूरत पड़ी तो लोकल लेवल पर भी सभी रास्ते व सड़कें ब्लॉक कर देंगे. गौरतलब है कि इससे पहले भी हरियाणा के कई खापों ने किसान आंदोलन को अपना समर्थन दिया है. वहीं विभिन्न दलों के नेता और जानी-मानी हस्तियां भी किसानों के समर्थन में आगे आई हैं.

सरकार पर लगाए गंभीर आरोप
खापों ने कहा कि इस गूंगी और बहरी सरकार में आए दिन किसानों पर जुलम हो रहे हैं और सरकार किसानों पर दमनकारी नीति अपना रही है. इस दमनकारी नीति से इस गूंगी और बहरी सरकार ने अंग्रेजों के अत्याचार की याद दिला दी है. इतना अत्याचार तो उन्होंने भी नहीं किया होगा.
6 महीने का राशन लेकर निकली अहलावत खाप


वहीं दिल्ली के टिकरी बॉर्डर पर किसानों को समर्थन देने के लिए अहलावत खाप निकल चुकी है. अहलावत खाप के प्रधान जय सिंह अहलावत के नेतृत्व में सैकड़ों ट्रैक्टरों के साथ किसानों ने आंदोलन के लिए कूच कर दिया है. किसानों के साथ महिलाएं भी इस आंदोलन में शामिल होने जा रही हैं. किसान आंदोलन के समर्थन में महिलाओं का हुजूम पूरी तैयारी के साथ निकला है.6 महीने के राशन के साथ लंबी तैयारियों के साथ सैकड़ों किसान निकल पड़े हैं. खाप से जुड़े किसान अलग-अलग वाहनों से दिल्ली के लिए निकल पड़े हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज