लाइव टीवी

कैथल में इलाके की चौधर और राष्ट्रीय मुद्दों के बीच मुकाबला, चक्रव्यूह में सुरजेवाला

News18 Haryana
Updated: October 17, 2019, 5:57 PM IST
कैथल में इलाके की चौधर और राष्ट्रीय मुद्दों के बीच मुकाबला, चक्रव्यूह में सुरजेवाला
सुरजेवाला परिवार ने कैथल में किया है काम

स्थानीय लोगों को रणदीप सुरजेवाला में इलाके की चौधर भी नज़र आती है क्योंकि वो कांग्रेस के दिग्गज नेताओं में से एक हैं.

  • Share this:
(अनुराग ढांडा)

कैथल. हरियाणा विधानसभा चुनाव (Haryana Assembly Election) में कांग्रेस के दिग्गज नेता रणदीप सुरजेवाला (Randeep Surjewala) को अपने गढ़ कैथल (Kaithal) में वोट हासिल करने से ज्यादा चुनाव को स्थानीय मुद्दों पर बनाए रखने में मशक्कत करनी पड़ रही है. बीजेपी के तमाम बड़े नेताओं से लेकर स्थानीय उम्मीदवार तक खुलेआम राष्ट्रीय मुद्दों और 370 को हटाने के मुद्दे पर वोट मांग रहे हैं. देशभक्ति और राष्ट्रवाद के मुद्दों पर जनसभाओं में जोश भी आ जाता है और पूरा चुनावी कैंपेन स्थानीय मुद्दों से भटक जाता है.

रणदीप सुरजेवाला की छवि कैथल सीट पर एक मजबूत स्थानीय नेता की रही है. इलाके के लोग ये भी मानते हैं कि सुरजेवाला परिवार ने कैथल में काम किया है. लेकिन रणदीप सुरजेवाला का पूरा चुनाव इसी बात पर आ टिका है कि लोग स्थानीय मुद्दों पर वोट देंगे या नहीं.

इन मुद्दों पर भाजपा पर निशाना साधते हैं सुरेजवाला

रणदीप सुरजेवाला अपनी सभा में बोलते हुए बीजेपी पर निशाना साधते हैं कि 5 साल में एक काम किया नहीं. इसलिए  ध्यान भटकाने के लिए भ्रम फैलाने के लिए कभी वह अफगानिस्तान में चुनाव लड़ते हैं, कभी पाकिस्तान में लड़ते हैं, कभी आसाम में लड़ते हैं, कभी पश्चिम बंगाल और कभी  जम्मू कश्मीर में चुनाव लड़ते हैं. अरे भैया चुनाव तो हरियाणा में हो रहा है. हरियाणा के मुद्दों पर बात कीजिए. हरियाणा के मुद्दों पर खट्टर साहब के पास कोई जवाब नहीं है.

रणदीप सुरजेवाला


कैथल में सुरजेवाला ने करवाए काम
Loading...

स्थानीय लोगों को रणदीप सुरजेवाला में इलाके की चौधर भी नज़र आती है क्योंकि वो कांग्रेस के दिग्गज नेताओं में से एक हैं. स्थानीय निवासी दलबीर सिंह के मुताबिक कैथल में रणदीप सुरजेवाला ने काम करवाए हैं, लेकिन बीजेपी ने भी 370 हटाकर 70 साल की सबसे बडी समस्या खत्म कर दी है.

इलाके की चौधर के नाम पर मांगते हैं वोट

रणदीप सुरजेवाला भी अपनी सभाओं में इस सोच का पूरा फायदा उठाते हैं और इलाके की चौधर के नाम पर वोट मांगते हैं. सुरजेवाला कहते है कि  लीला राम जब इनेलो से विधायक थे तभी कुछ काम नहीं करवा पाए. जब वो उस पार्टी का विधायक होते हुए कुछ नहीं कर पाए जिसमें वो 20 साल से थे. बीजेपी में तो वो अभी नर्सरी में दाखिल हुए हैं. जीत भी गए तो इनकी क्या चलेगी. जिस दिन तुम्हारा भाई रणदीप हरियाणा की कलम चलाएगा, एक युवा भी बेरोजगार नहीं रहेगा.

भाजपा प्रत्याशी कांग्रेस को बताते हैं देशद्रोहियों की पार्टी

बीजेपी उम्मीदवार लीला राम अपनी सभाओं में धारा 370 हटाने के नाम पर खुलकर वोट मांगते हैं और कांग्रेस को देशद्रोहियों की पार्टी तक बता देते हैं.  वो कहते हैं कि आपके बीच में कांग्रेस के वो नेता भी वोट मांगने आएंगे जो कहते हैं कि अगर कांग्रेस की सरकार बनी तो धारा 370 को वो दोबारा से लागू कर देंगे. उससे भी आगे बढ़कर कांग्रेस के नेता यह भी कहेंगे कि जो आतंकवादी सेना की गोलियों से मारे गए उनके परिवारों को बुलाकर सम्मानित करेंगे. यह आपको तय करना है कि आपको गद्दार और देशद्रोहियों को वोट देना है या फिर धारा 370 हटाने वाले मोदी जी और बीजेपी को.

क्या इस चक्रवयूह को भेज पाएंगे सुरजेवाला

कुल मिलाकर हरियाणा में कैथल विधानसभा का चुनाव  इलाके की चौधर और राष्ट्रीय मुद्दों के बीच हो रहा है. चक्रव्यूह में रणदीप सुरजेवाला घिरे हैं जिसे वो भेद पाए तो इलाके और कांग्रेस में चौधर के प्रबल दावेदार साबित होंगे.

ये भी पढ़ें- नूंह के तीन गांवों में राजनीतिक दलों के कार्यकर्ता भिड़े , 6 मुकदमे दर्ज

बीजेपी प्रत्याशी मोहनलाल के प्रचार के लिए राई पहुंचे भोजपुरी स्टार निरहुआ

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कैथल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 17, 2019, 5:57 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...