हरियाणाः दीनदयाल उपाध्याय के नाम में भारी भूल, वायरल फोटो से BJP की हो रही फजीहत

कैथल भाजपा के कार्यक्रम में लगाए गए इसी पोस्टर को लेकर सोशल मीडिया पर बीजेपी नेताओं की हो रही फजीहत.
कैथल भाजपा के कार्यक्रम में लगाए गए इसी पोस्टर को लेकर सोशल मीडिया पर बीजेपी नेताओं की हो रही फजीहत.

एकात्म मानववाद के प्रवर्तक और भारतीय जनता पार्टी (BJP) के पितृपुरुष दीनदयाल उपाध्याय (Deendayal Upadhyay) का नाम लिखने में कैथल के भाजपा नेताओं ने ऐसी गलती की कि सोशल मीडिया में पार्टी का उड़ रहा मजाक. जनसंपर्क विभाग ने भी जारी की थी तस्वीरें.

  • Share this:
कैथल. भूल किसी से भी हो सकती है. नाम लिखने में हो या किसी का पोस्टर बनाने में. लेकिन सोशल मीडिया के जमाने में ऐसी कोई भी भूल (Mistake) कब भारी पड़ जाए, कहा नहीं जा सकता. कुछ ऐसी ही भूल हरियाणा के कैथल (Kaithal) में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेताओं से हो गई, जिसका अब सोशल मीडिया (Social Media) में मजाक उड़ाया जा रहा है. जी हां, कैथल भाजपा इकाई ने बीते दिनों पार्टी के पितृपुरुष पंडित दीनदयाल उपाध्याय (Deendayal Upadhyay) की जयंती पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया. लेकिन कार्यक्रम के दौरान मंच पर लगा एक पोस्टर अब बीजेपी नेताओं के जी का जंजाल बन गया है.

दरअसल, कैथल में हुए इस कार्यक्रम के दौरान मंच पर जो पोस्टर लगाया गया था, उसमें पं. दीनदयाल उपाध्याय का नाम सबको चौंका रहा था. पोस्टर में 'दीनदयाल' की जगह गलती से आपत्तिजनक शब्द उकेरे दिख रहे हैं. सोशल मीडिया के दौर में देखते ही देखते बीजेपी के कार्यक्रम का यह पोस्टर वायरल होने लगा, जिस पर अब पार्टी के स्थानीय नेताओं को जवाब देते नहीं बन रहा है. सबको हैरानी इस बात पर हो रही है कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय जैसी महान शख्सियत का नाम लिखने में ऐसी गलती कैसे हो सकती है.





स्थानीय भाजपा के कार्यक्रम में लगाए गए इस पोस्टर पर दिख रही गलती की चर्चा, शहर में हर किसी की जुबान पर है. अलबत्ता सोशल मीडिया के जरिए यह प्रदेश के अन्य जिलों तक भी पहुंच गया है. शहर में यह चर्चा का विषय है कि आखिर जो पार्टी खुद को 'बुद्धिजीवियों का दल' होने का दावा करती है, वहां इतने बड़े नेताओं के रहते, ऐसी गलती कैसे हो गई.
आपको बता दें कि कैथल में पं. दीनदयाल उपाध्याय की जयंती को लेकर दो दिन पहले RKSD कॉलेज में आयोजित किया गया था. इस कार्यक्रम में विधायक लीलाराम के साथ मुख्य वक्ता के तौर पर स्वामी रवि गिरी महाराज भी मौजूद थे. गौर करने वाली बात यह है कि बीजेपी के इस कार्यक्रम की तस्वीरें जनसंपर्क सूचना विभाग ने भी जारी की थीं. ऐसे में यह पोस्टर किसके द्वारा बनवाया गया है और यह गलती किसने की, इसकी खोजबीन अब शुरू हो गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज