लाइव टीवी

नवीन जिंदल ने भाजपा में जाने की अफवाहों को विराम देते हुए खुद को कांग्रेस का सिपाही बताया

Virender Puri | News18 Haryana
Updated: February 23, 2019, 11:58 PM IST
नवीन जिंदल ने भाजपा में जाने की अफवाहों को विराम देते हुए खुद को कांग्रेस का सिपाही बताया
पूर्व सांसद व उद्योगपति नवीन जिंदल

जिंदल ने कहा कि हमारे कुरुक्षेत्र लोकसभा में जितने भी संभावित उम्मीदवार हैं, हाईकमान द्वारा जनता को समर्पित काम हे आधार पर ही उनको टिकट का दावेदार बनाएगी.

  • Share this:
हरियाणा की राजनीति में पिछले काफी समय से एक चर्चा हो रही थी कि कुरुक्षेत्र के पूर्व सांसद नवीन जिंदल भाजपा में शामिल हो सकते हैं लेकिन शनिवार को कैथल में अपने निवास स्थान पर पत्रकार वार्ता में उन्होंने इस चर्चा पर पूर्ण विराम लगा दिया. उन्होंने साफ मना कर दिया कि मैं भाजपा में नहीं जाऊंगा. मैं शुरू से ही कांग्रेस का सिपाही हूं और कांग्रेस में ही रह कर अपनी जिम्मेवारी निभाऊंगा. जब यह पूछा गया कि आप हिसार से चुनाव लड़ोगे या कुरुक्षेत्र से तो उन्होंने जवाब दिया हिसार मेरी जन्म भूमि है और कुरुक्षेत्र मेरी कर्मभूमि है. इसका मतलब स्पष्ट होता है कि पूर्व सांसद नवीन जिंदल कुरुक्षेत्र से दोबारा चुनाव लड़ने के लिए ताल ठोक रहे हैं.

जिंदल ने कहा कि हमारे कुरुक्षेत्र लोकसभा में जितने भी संभावित उम्मीदवार हैं, हाईकमान द्वारा जनता को समर्पित काम हे आधार पर ही उनको टिकट का दावेदार बनाएगी. जब उनसे सांसद राजकुमार सैनी के बारे में बात की गई तो उन्होंने कहा कि राजकुमार सैनी ने तो भाई-भाई को लड़ाने की कोशिश की है. कुरुक्षेत्र लोकसभा में विकास बिल्कुल थम गया है.

नवीन ने दावा कियया कि हमारे समय में कुरुक्षेत्र लोकसभा का बहुत ज्यादा विकास हुआ है और अगर भाजपा के समय में जो कुछ थोड़ा बहुत विकास हुआ है तो वह हमारे समय के प्लान किए हुए कार्य हैं या हमारे समय में वह पास के हुए कार्य हैं. मैंने अपने क्षेत्र के लिए कितनी आवाज उठाई, कितने महीने यहां से प्लान बनाकर आगे भेजें ताकि यहां के लोगों को कोई दिक्कत ना आए लेकिन मौजूदा सांसद ने तो अपने क्षेत्र के लोगों के लिए कभी भी कोई आवाज नहीं उठाई.


बस से टकराकर हाइवा में लगी आग, चालक की मौत

सड़क दुर्घटना में मां और एक बेटे की मौत, एक बेटा-एक बेटी घायल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कैथल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 23, 2019, 11:58 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर