बुलेट चला रहे हैं तो रखें ये खास ध्यान, नहीं तो पुलिस काट देगी चालान!
Kaithal News in Hindi

बुलेट चला रहे हैं तो रखें ये खास ध्यान, नहीं तो पुलिस काट देगी चालान!
कानफोड़ साइलेंसर वाले बुलेट सवारों के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी गई है. फाइल फोटो.

बुलेट बाइक (Bullet bike) जिसे शान की सवारी समझा जाता रहा है, जिसको युवा शान से चलाना पसन्द करते हैं और आजकल तो मोडिफाइड बुलेट एक ट्रेंड बनता जा रहा है.

  • Share this:
कैथल. बुलेट बाइक (Bullet bike) जिसे शान की सवारी समझा जाता रहा है, जिसको युवा शान से चलाना पसन्द करते हैं और आजकल तो मोडिफाइड बुलेट एक ट्रेंड बनता जा रहा है. लेकिन अगर हम हरियाणा के कैथल की बात करें तो इसी शान की सवारी बुलेट को कैथल पुलिस ने चालान की सवारी बना दिया है. क्योंकि बुलेट बाइक्स के इतने मोटे-मोटे चालान कटने शुरू हो गए हैं, जिसमें मोडिफाइड साइलेंसर व पटाखों के चालान सबसे ज्यादा है. कैथल पुलिस ने पिछले छह महीने में 380 बुलेट के चालान किये हैं, जिनकी राशि लगभग 40 से 50 लाख के आसपास बनती है.

कैथल के ट्रैफिक पुलिस इंचार्ज मुख्तयार सिंह ने बताया कि कैथल में 480 बुलेट बाइक रजिस्टर्ड हैं और हमने अभी तक 380 बुलेट बाइक्स के चालान कर दिए हैं. ये पिछले छह महीने का आंकड़ा है. इन सभी चालान की राशि लगभग 40-50 लाख रुपये बनती है. चालान के साथ ही इसकी सवारी करने वालों को समझाइस भी दी जा रही है. ताकि भविष्य में फिर से वे गलती न करें. दोबारा गलती पर फिर से चालान की प्रक्रिया की जाएगी.

ये भी पढ़ें: सांपों का 'खास दोस्त' है बस्तर पुलिस का ये जवान, हाथ के इशारों पर नाचते हैं जहरीले नाग!



इसलिए कट रहे चालान
ट्रैफिक पुलिस इंचार्ज मुख्तयार सिंह ने बताया कि मोडिफाइड साइलेंसर वाली बुलेट की चालान राशि सबसे ज्यादा है. ट्रैफिक इंचार्ज ने माना कि निश्चित ही बुलेट शान की सवारी है, लेकिन लोग कायदे-कानून में रहकर चलाते हैं तो. लेकिन लोग पटाखे बजाते हैं, साइलेंसर चेंज करवाते हैं और साथ मे ट्रैफिक के नियम तोड़ते हैं तो मोटे चालान हो जाते है जिसे ये अब चालान की सवारी बन रही है. बुलेट से ध्वनि प्रदूषण करने वाले ट्रैफिक पुलिस के निशाने पर हैं. ऐसे लोगों पर कार्रवाई लगातार जारी रहेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading