पूंडरी की फिरनी: देश-विदेश तक हैं इस मिठाई के चर्चे, कोरोना काल में प्रभावित हुआ कारोबार
Kaithal News in Hindi

पूंडरी की फिरनी: देश-विदेश तक हैं इस मिठाई के चर्चे, कोरोना काल में प्रभावित हुआ कारोबार
पूंडरी की मशहूर फिरनी

ये मैदे और घी से बनी एक ऐसी मिठाई (Sweet) है जो कि सिर्फ पूंडरी में ही बनती है और पूरे हरियाणा (Haryana) समेत कई जगहों पर इसकी सप्लाई की जाती है.

  • Share this:
कैथल. ‘पूंडरी की मशहूर फिरनी’ यही वो स्लोगन है जिसे लगाकर पूरे हरियाणा में दुकानदार इस मिठाई को बेचते हैं. सावन के महीने में लोगों को पूंडरी का नाम लेने भर से ही फिरनी का स्वाद याद आने लगता है. पूंडरी हरियाणा के कैथल जिले का एक छोटा सा कस्बा है यहां की बनी एक मिठाई फिरनी हरियाणा तो क्या बल्कि पूरे भारत में मशहूर है.

ये मैदे और घी से बनी एक ऐसी मिठाई है जो कि सिर्फ पूंडरी में ही बनती है और पूरे हरियाणा समेत कई जगहों पर इसकी सप्लाई की जाती है. आमतौर पर सावन का महीना आने से करीब 2 महीना पहले ही यहां के कारीगर फिरनी बनाना शुरू कर देते हैं. लेकिन कोरोना के इस दौर में कारीगर कम मिलने से व्यापार पर खासा प्रभाव पड़ा है.

45 सालों से कारीगर बना रहे फिरनी



कहा जाता है की लगभग 45 वर्षों से यहां के कारीगर फिरनी बना रहे हैं। शुरू में एक-दो दुकानों से ही ये मिठाई बननी शरू हुई थी लेकिन अब यहां पर सैकड़ों दुकाने हैं जो फिरनी को तैयार करते है. यहां जैसी फिरनी कही भी नहीं बनती. कारीगरों का कहना है की यहां के पानी में वो बात है जो इस मिठाई को ख़ास बनाती है.
सावन के महीने में फिरनी की डिमांड ज्यादा


सावन का फल भी कहते हैं लोग

कुछ कारीगरों का तो यहां तक कहना है की ये वरदान ही है जो ऐसी मिठाई सिर्फ पूंडरी में ही बनती है कही और नहीं. जब स्थानीय लोगो और खरीददारों से बात की गई तो उन्होंने बताया की ये मिठाई वो अपने सभी रिश्तेदारों को पूरे भारत में भेजते हैं. कुछ ने तो विदेशों में भी भेजने की बात कही. इसको यहां सावन के फल के नाम से भी जाना जाता है. सावन का यह फल सावन के मौसम में खूब अच्छे से फल-फूल कर लोगों को एक अद्भुत स्वाद की अनुभूति कराता रहता है.

विदेश में भी डिमांड

यहां के कारीगरों का कहना है कि यहां की फिरनी का छोटा साईज और मुलायमपन है जो इसे अन्य शहरों की फिरनी से इसे अलग करती है. यहां की फिरनी में वो अद्भुत स्वाद है जो खाने वालों को बार बार अपनी और आकर्षित करती है. ग्राहकों और स्थानीय निवासियो ने बताया की यहां की फिरनी के चर्चे तो विदेशों तक हैं. जब भी सावन का महीना आता है तो भारत की अन्य जगहों से ही नहीं विदेशों से भी उनके रिश्तेदारों के फोन आने लगते हैं पूंडरी की फिरनी के लिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading