कैथल के सरकारी अस्पताल में चूहों का आतंक, कुतर ली मरीज की टांग

मरीज का अभी तक कूल्हे का अभी तक इलाज तो नहीं हुआ लेकिन उसके दूसरे पैर को चूहों ने जरूर कुतर दिया.

Virender Puri | News18 Haryana
Updated: June 17, 2019, 11:54 AM IST
कैथल के सरकारी अस्पताल में चूहों का आतंक, कुतर ली मरीज की टांग
नागरिक अस्पताल कैथल
Virender Puri
Virender Puri | News18 Haryana
Updated: June 17, 2019, 11:54 AM IST
कैथल के नागरिक अस्पताल में चूहों के आतंक का एक मामला सामने आया है. गांव मांडी सदरां निवासी देवी दयाल अपने कूल्हे के इलाज के लिए सिविल अस्पताल में दाखिल हुआ था, लेकिन उसके कूल्हे का अभी तक इलाज तो नहीं हुआ लेकिन उसके दूसरे पैर को चूहों ने जरूर कुतर दिया. देवीदयाल ने बताया कि रात्रि को अस्पताल में चूहों का आंतक इतना है कि चूहे बेड पर चढ़ जाते हैं. चूहे 2 बार उसका पैर कुतर चुके हैं, जिससे उसके पैर में गहरा घाव हो गया है.

देवीदयाल का कहना है कि घर में उसकी पत्नी के अलावा कोई नहीं है, बच्चे छोटे हैं, जिस कारण उसकी पत्नी को बच्चों को भी देखना पड़ता है. बार-बार चिकित्सकों से गुहार लगाने के बाद भी उसका इलाज नहीं किया जा रहा है.

बता दें कि देवीदयाल 25 दिनों से ऑपरेशन के इंतजार में हैं. लेकिन उसकी सुध नहीं ली गई और ना ही उसकी टांग का ऑपरेशन किया जा रहा. घर में अकेला कमाने वाले इस मरीज के करीब 25 दिनों से यहां दाखिल रहने से परिवार का हौंसला भी डगमगा रहा है.

गड्ढे में गिरने से टूट गई थी टांग

गांव मांडी निवासी देवी दयाल ने बताया कि 24 मई को गड्ढे में गिरने से उसकी टांग टूट गई थी. अगले ही दिन उसके परिवार के सदस्य उसे इलाज के लिए अस्पताल में ले आए. पहले तो उसकी टांग को देखकर डॉक्टरों ने ऑपरेशन करने की बात कही, जिस पर वह सहमत हो गया, लेकिन बाद में डॉक्टर उसे पीजीआई रोहतक जाने की बात कहने लगे. मरीज ने आरोप लगाया कि जो लोग उसके कई-कई दिन बाद आए उनका तो ऑपरेशन हो गया, लेकिन डॉक्टर उसका ऑपरेशन नहीं कर रहे. मरीज ने बताया कि डॉक्टर यह कहकर उसका ऑपरेशन नहीं कर रहे कि अगर ऑपरेशन करेंगे तो उसे हार्ट अटैक आ सकता है, जबकि उसे पहले कभी भी हार्ट से संबंधित कोई बीमारी नहीं है.

दूसरी टांग पर चूहों के कुतरने से बना घाव

उसकी दूसरी टांग पर घाव बना हुआ है. उस घाव के निकट चूहों ने कुतर लिया. उसने इसके लिए अस्पताल कर्मचारियों को सूचना दी. लेकिन उसे ना तो मरहम लगाई गई और ना ही उसे कोई दवा दी गई. उसे डर है कि उसे चूहों के काटने के कारण यहां कोई ओर बीमारी ना लग जाए. वहीं इस मामले में सिविल सर्जन डॉ. सुरेंद्र नैन का कहना है कि इस मामले में वे अस्पताल के स्टाफ से जानकारी लेंगे. उसके बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी. चूहों की समस्या यदि है, उसका भी निदान करवाया जाएगा.
Loading...

ये भी पढे़ं- 'हेरोइन' और 8 लाख के साथ पकड़ी गई महिला की बात सुनकर दंग रह गई पुलिस

ये भी पढे़ं- असलहे के साथ फोटो फेसबुक पर अपलोड करना युवक को पड़ा महंगा, मामला दर्ज
First published: June 17, 2019, 11:54 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...